Home Places तेजी से बढ़ रहा है सोलो ट्रैवलिंग का ट्रेंड

तेजी से बढ़ रहा है सोलो ट्रैवलिंग का ट्रेंड

तेजी से बढ़ रहा अकेले घूमने का ट्रेंड

166
0
SHARE
uknews-solo-travel
तेजी से बढ़ रहा है सोलो ट्रैवलिंग का ट्रेंड

अकेले घूमने का ट्रेंड तेजी से बढ़ रहा है। सिर्फ लड़के नहीं, लड़कियां भी सोलो ट्रैवलिंग के मामले में पीछे नहीं हैं। सोलो ट्रैवलिंग के दौरान बहुत से नए अनुभव होते हैं। कुछ सोलो ट्रेवलर्स ने अपने अनुभव हमसे शेयर किए हैं।

आइए, कोमिका माथुर के साथ जानते हैं कैसा रहा उनका अनुभव और क्या है उनकी सलाह…

चार साल हो गए हैं मुझे अकेले इस तरह घुमक्कड़ी करते हुए। अब मजा आने लगा है। डर बिल्कुल नहीं लगता। हां, लड़की होने के नाते थोड़ी एहतियात जरूर बरतनी होती है। जरूरी भी है। दरअसल, घूमने का शौक तो मुझे शुरू से रहा है।

फ्रेंड्स के साथ तो कभी फैमिली के साथ जाया करती थी पहले। चार साल पहले ऐसा ही एक प्लान बनाया था लेह का। दोस्तों के साथ जाना था। मुझे वे सब मनाली में मिलने वाले थे। मनाली पहुंची तो पता चला कि सब किसी वजह से नहीं पहुंच पा रहे। बहुत गुस्सा आया, परेशान भी हुई, लेकिन ठान लिया कि बिना घूमे वापस नहीं जाऊंगी। बस, चल दी आगे।

यह मेरा पहला सोलो ट्रिप था। इस दौरान कई लोग मिले जो मेरी ही तरह अकेले घूम रहे थे। अकेले घूमने वालों में विदेशी सैलानी ज्यादा थे, लेकिन भारतीयों की भी कमी नहीं थी। थोड़ा कॉन्फिडेंस आया। खूब घूमी। बिना किसी टेंशन के। जहां मन हुआ, जितनी देर मन हुआ, बैठी रहती। फिर आगे बढ़ जाती। इस ट्रिप को मैंने काफी एंजॉय किया।
सुमन डूगर, साइकॉलजी टीचर

सोलो ट्रैवलिंग के दौरान रखें इन बातों का ध्यान:

इस बात का खास ख्याल रखें कि आप अपनी डेस्टिनेशन पर कितने बजे पहुंचेंगे। कोशिश करें कि प्लानिंग ऐसी हो कि आप सुबह या दिन के वक्त ही डेस्टिनेशन पर पहुंचें।

नए लोगों से मिलें, बात करें पर बहुत जल्दी बहुत ज्यादा घुलने-मिलने से बचें। नए लोगों के साथ ड्रिंक भी ना ही करें।
खूब सवाल पूछें। जिस होटल में ठहर रहे हैं, उसके मैनेजर से या घूमने-फिरने के लिए ली गई टैक्सी के ड्राइवर से या वहां के लोकल लोगों से भी। जहां घूम रही हैं, वहां की अच्छी जानकारी आपको होनी चाहिए।

अकेले ट्रैवल करना हाल ही में शुरू किया है। इसी साल मई में मैं अपने पहले सोलो ट्रिप पर गई थी। कसौल से आगे एक जगह है तोश। बेहद खूबसूरत जगह है। भीड़भाड़ और शोरगुल से दूर। इसके बाद अब तक 3-4 बार अकेले ट्रैवल कर चुकी हूं।

असल में मैं तो पहले भी अकेले घूमना चाहती थी, लेकिन टाइम नहीं मिलता था। अब स्कूल में काफी टाइम होता है। अच्छी-खासी छुट्टियां भी मिलती हैं इसलिए घूमने-फिरने का खूब टाइम मिल जाता है।

दोस्तों के साथ भी जाती हूं, लेकिन बहुत किच-किच होती है उस वक्त। कोई किसी डेट के लिए तैयार नहीं, तो कोई किसी जगह के लिए। प्लान करने में ही सारी एनर्जी खर्च हो जाती है इसलिए मैं अब अकेले ट्रैवल करना ज्यादा पसंद करती हूं।
स्मिता, काउंसिलर

सोलो ट्रैवलिंग के दौरान रखें इन बातों का ध्यान

– अकेले ट्रैवल करने के लिए सबसे पहले तो आपको अपना मन शांत रखना होगा। अगर आप ब्रेकअप या किसी और परेशानी से भागने के लिए कहीं घूमने जा रही हैं तो आप इंजॉय नहीं कर पाएंगे।
– खुद के साथ इंजॉय करना सीखना होगा क्योंकि जब आप अकेले ट्रैवल कर रहे होते हैं तो कई बार वक्त काटना मुश्किल हो जाता है। ऐसे में अगर आपको अपने साथ वक्त बिताने की आदत नहीं है तो आप परेशान हो जाएंगे।
– एक फीमेल होने के नाते जो सावधानियां बरतनी चाहिए, वे तो हैं ही।

LEAVE A REPLY