Home Fashion फटी जींस की कीमत नॉर्मल जींस से काफी ज्यादा

फटी जींस की कीमत नॉर्मल जींस से काफी ज्यादा

222
0
SHARE
uknews-ripped jeans
रिप्ड यानी फटी जींस पहनने का ट्रेंड

आज हम उस दौर में जिंदगी जी रहे हैं जहां हर दिन या कहें तो हर घंटे फैशन बदलता है। अगर बात करें लड़कियों की तो फैशन के मामले में कोई भी इनका मुकाबला नहीं कर सकता है। फिर चाहे वह अलग दिखने वाला कोई लुक हो या फिर ड्रेस.. गर्ल्स हर तरह के एक्सपीरिमेंट्स करती रहती हैं। लेकिन एक ऐसा फैशन है जो पिछले कुछ साल से काफी ज्यादा देखने को मिल रहा है। यह है रिप्ड यानी फटी जींस पहनने का ट्रेंड। फैशन के दीवाने कई लोग इस तरह की जींस पहने दिख जाते हैं।

फटी हुई जींस की कीमत ज्यादा

शॉपिंग करते हुए या फिर कहीं किसी सड़क पर चलते हुए कई हॉलिवुड और बॉलिवुड सिलेब्रिटिज रिप्ड जीन्स पहने हुए देखे जाते हैं। ऐसी जींस आमतौर पर घुटनों या फिर जांघ के पास से रिप्ड (फटी हुई) होती है। दिलचस्प बात तो यह है कि इन फटी हुई जींस की कीमत नॉर्मल जींस से काफी ज्यादा होती है।

कहां से शुरू हुआ फैशन?

जींस को सबसे पहले 1970 में डिजाइन किया गया था। इसे एक जर्मन बिजनेसमैन लोइब स्ट्रॉस ने डिजाइन किया था। उन्होंने इसका नाम लेवी रखा था और स्ट्रॉस ने ही डेनिम ब्रांड की शुरुआत की थी। उन्होंने रेशेदार कॉटन के कपड़ों को मिलाकर एक ट्राउजर तैयार किया, जो एक वर्किंग मैन पर काफी सूट करता था। इसके अलावा उन्होंने इसका रंग गहरा नीला कर दिया।

इसके बाद जीन्स में रिप्ड ट्रेंड शुरू हुआ। हालांकि उस दौर में इसका काफी विरोध भी हुआ और लोगों ने इसका मजाक भी बनाया। डेनिम ने सोसाइटी के सामने इसे एक नए फैशन के तौर पर रख दिया था। लेकिन इस तरह के फैशन को असली किक तब मिली जब हॉलिवुड ऐक्ट्रेसेज ने इसे अपनाया। इसके बाद लोग अपनी जींस को खुद ही फाड़ने या काटने लगे। हालांकि इसके बाद डेनिम ने इस तरह की रिप्ड जीन्स काफी तादाद में बनाना शुरू कर दिया।

फिर से लौटा दौर

बीच में रिप्ड जीन्स का फैशन थोड़ा कम हो गया था। ज्यादा लोग इस तरह की जींस नहीं पहनते थे। लेकिन 2010 में एक बार फिर रिप्ड जीन्स का ट्रेंड चला। डीजल और बालमेन जैसे डिजाइनर्स ने इसे फिर से लॉन्च किया और अपने स्टोर्स में उतारा।

कैसी होती है रिप्ड जींस?

डेनिम अपनी जींस को दो तरह से रिप करता है, एक लेजर तरीके से और दूसरा तरीका हाथों से रिप करने का है। आमतौर पर सस्ते ब्रांड के जींस को हाथों से ही रिप करवाते हैं। लेकिन बड़े ब्रांड इसे एक प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर से लेजर की मदद से रिप करते हैं।

LEAVE A REPLY