Home Uttarakhand Capital Doon बारिश से गढ़वाल में जनजीवन अस्त-व्यस्त

बारिश से गढ़वाल में जनजीवन अस्त-व्यस्त

851
0
SHARE
uknews-heavy rain in uttarakhand

चारधाम मार्ग कई जगह अवरू़द्ध

देहरादून। बारिश के चलते चारधाम यात्रा मार्ग कई जगह बाधित हो गया। गुरूवार को गढ़वाल मंडल के लगभग सभी जिलों में बारिश का दौर चला। मिली जानकारी  के अनुसार मूसलाधार बारिश के कारण रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड एनएच 107 मुनकटिया में मलबा आने और पेड़ गिरने से मार्ग बंद हो गया था, जिसे बाद में फिर यातायात के लिए खोल दिया गया है।

बदरीनाथ धाम यात्रा रुकी

बदरीनाथ हाईवे बुधवार की रात से लामबगड़ में अवरुद्ध है। इससे बदरीनाथ धाम यात्रा रुकी है। यात्री हाईवे खुलने का इंतजार किया जा रहा था। रातभर रुक-रुक कर हो हुई बारिश से यमुनोत्री हाईवे भी जगह-जगह बंद पड़ा हुआ है। रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड एनएच 107 में डोलिया देवी फाटा और चांडिकाधार में अवरुद्ध हो गया है। नैनबाग में लगातार हो रही भारी बारिश के चलते बुधवार की रात पटवारी चैकी का पुस्ता ढह गया। जिससे नीचे बना पैदल रास्ता भी बंद हो गया है।
पुस्ता ढहने से पटवारी चैकी के भवन पर भी खतरा मंडरा रहा है। वहीं दूसरी ओर बारिश के कारण नैनबाग, मसूरी हाईवे पर जगह-जगह मलबा आने से मार्ग अवरुद्ध हो गया है। मार्ग बंद होने से नैनबाग व अगलाड़ घाटी से मसूरी, देहरादून जाने वाले दूध और सब्जी के वाहन फंसे रहे। वहीं विभाग के लिए सिर दर्द बने कांडीखाल में भी पहाड़ी दरकने से मार्ग अवरुद्ध हो गया। लेकिन जेसीबी ने समय रहते मार्ग खोल दिया। अगलाड़ थत्यूड़ मार्ग पर सडब खाले में मलबा आने से वहां भी मार्ग बंद हो गया।
जाम में फसे लोगों ने सड़क से मलबा हटाकर छोटे वाहनों के लिए मार्ग खोला जिससे आवाजाही शुरू हो सकी। कैम्पटी बाईपास पर भी सड़क का पुस्ता ढहने से एक भवन पर खतरा बढ़ गया है। यमुना के मायके खरसाली गांव के पास से बहने वाली हिरण्याबाहु नदी के विकराल रूप ने ग्रामीणों की नींद उड़ा दी। ग्रामीण अपने घर छोड़कर सोमेश्वर देवता मंदिर परिसर में एकत्रित हो गए।