Home News International 12 बच्चों और उनके कोच की जिंदगी के लिए दुआ मांग रहा...

12 बच्चों और उनके कोच की जिंदगी के लिए दुआ मांग रहा पूरा थाइलैंड

79
0
SHARE

मां को यकीन,बेटा जिंदा वापस आएगा

साई: शनिवार को लेकर बुधवार तक पांचवां दिन हो आया है और पूरा थाइलैंड फुटबॉल टीम के 12 बच्चों और उनके कोच की जिंदगी के लिए दुआ मांग रहा है। बच्चों के परिजन बेचैन हैं और गुफा के बाहर भिक्षुओं के साथ दुआ कर रहे हैं। गुफा में फंसे एक 16 साल के बच्चे की मां को यकीन है कि बचाव कार्य और दुआ रंग लाएगी, गुफा से उसका बेटा जिंदा वापस आएगा। थाइलैंड के पीएम ने भी कहा है कि उनकी उम्मीद जिंदा है कि बच्चे और उनके कोच सुरक्षित हैं।

थाइलैंड ने रेस्क्यू के लिए पूरी ताकत झोंकी

शनिवार को थाइलैंड के 11 से 16 आयु वर्ग की फुटबॉल टीम जब अपने कोच के साथ लुआंह नांग नोन गुफा में घुसा तो उन्हें शायद इस बात का अंदाजा भी नहीं होगा कि उनकी जिंदगी खतरे में पड़ जाएगी। थाइलैंड ने इनके रेस्क्यू के लिए पूरी ताकत झोंक रखी है लेकिन प्रकृति ही अब आड़े आ गई है।

भारी बारिश की वजह से गुफा में पानी भर गया है और हर पल ऑक्सिजन का स्तर गिरता जा रहा है। करीब 1000 लोग जिनमें सेना की उच्च स्तरीय टीम भी शामिल है, बच्चों को बचाने की हरसंभव कोशिशों में जुटी हुई है।

uknews-THAILAND-ACCIDENT-WEATHER
Bicycles belonging to members of a children’s football team, who are trapped in a cave chamber along with their coach

उत्तरी थाइलैंड की कई मीटर लंबी लुआंह नांग नोन गुफा में बच्चों के फंसे होने की जानकारी मुख्य द्वार पर खड़ी उनकी लावारिस साइकलों से मिली। शनिवार को ज्यों ही यह जानकारी मिली थाइलैंड में हड़कंप मच गया। रेस्क्यू को करीब 5 दिन गुजरने वाले हैं लेकिन बच्चों का कोई पता नहीं चल पाया है। बुधवार को फुटबॉल टीम और उनके कोच का बचाने का अभियान भारी बारिश के कारण बुरी तरह प्रभावित हुआ।

रेस्क्यू काफी कठिन है

माना जा रहा है कि भारी बारिश के कारण गुफा के मुख्य द्वार में पानी भर जाने से वे लोग अंदर फंस गए। उसके बाद लगातार हो रही बारिश के कारण वे लोग गुफा में अंदर की तरफ चले गए हैं। बचावकर्मियों ने म्यांमार और लाओस की सीमा से लगी इस गुफा के पास पूरी रात पानी के पंप लगाने का काम किया, ताकि गुफा में जमा पानी को बाहर खींचा जा सके। रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक अब राहत-बचाव में जुटी टीम गुफा में ड्रिल करने की भी तैयारी में है।

बचाव कार्य के प्रांतीय अधिकारी ने बताया कि पानी का बढता स्तर बचाव कार्य में सबसे बड़ा अवरोधक है। 1000 लोगों के इस बचाव कार्य में हवाई टीम और गोताखोर भी शामिल हैं। बच्चों की तलाश में नेवी सील गोताखोर उत्तरी चिंयांग राई प्रांत में स्थित गुफा में ऑक्सिजन टैंक और खाद्य पदार्थ ले कर मंगलवार सुबह अंदर गए थे।

नेवी सील ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा था, ‘हमारी टीम सुबह गुफा के अंदर गई है और वह गुफा के अंत तक जाएगी।’ नेवी सील का कहना है कि भारी बारिश के कारण रात भर में गुफा में पानी का स्तर करीब 15 सेंटीमीटर बढ़ गया है और उसमें काफी अंदर तक पानी भर गया है। इस बीच मौसम विभाग ने बुधवार को भी पूरे दिन बारिश होने की आशंका जताई है।

घटते ऑक्सिजन के बीच बच्चों की सांसों के लिए दुआ कर रहा थाइलैंड

प्रांतीय गवर्नर ने बताया है कि गुफा में भरते पानी को पंप से निकालने की कोशिश हो रही है लेकिन पानी का स्तर अब भी बढ़ रहा है। इस बीच अंदर फंसे बच्चों और उनके कोच की सांसें सलामत रहें, इसके लिए थाइलैंड में भिक्षुओं के अलावा आमजन भी दुआ कर रहे हैं। गवर्नर का कहना है कि पानी भरने की वजह से गुफा के अंदर ऑक्सिजन का स्तर भी घट गया है।

मांओं को उम्मीद, गुफा से जीवित लौटेंगे उनके बच्चे

बचाव व राहत कार्य के बीच गुफा में फंसे बच्चों के परिजन और कुछ भिक्षु भी मौजूद हैं। गुफा के बाहर सारे प्रार्थना कर रहे हैं कि अंदर उनके अपनों की सांसें सलामत रहें। थाइलैंड में सोशल मीडिया पर भावुक पोस्ट देखने को मिल रहीं है। देश की टॉप लीडरशिप और रॉयल परिवार के सदस्य तक बच्चों की सलामती की दुआएं कर रहे हैं।