Home Entertainment बच्चों का सामना करना मुश्किल हो गया था

बच्चों का सामना करना मुश्किल हो गया था

80
0
SHARE
uknews-boby deol in race 3

बॉलिवुड अभिनेता बॉबी देओल लंबे समय बाद एक बार फिर से बड़े परदे पर एक बड़ी फिल्म ‘रेस 3’ के साथ वापसी कर रहे हैं। फिल्म के प्रमोशनल इंटरव्यू के दौरान हमसे हुई बातचीत में बॉबी ने बताया कि जब वह 4 साल तक बिना काम के घर में बैठे रहे थे, तब उनके बच्चे भी उन्हें हमेशा घर में देखते थे। घर में बच्चों का सामना करना उनके लिए मुश्किल हो गया था। बिना काम के घर पर बैठने की बात उन्हें खाए जा रही थी। परेशान बॉबी को सलमान खान ने ‘रेस 3’ में मौका दिया है।

मेरे पास कोई काम नहीं था और मेरे कैरियर में कुछ भी हो नहीं रहा था

इन दिनों बॉबी के फिजिक की खूब चर्चा है। अपनी सुडौल बॉडी की तारीफ पर बॉबी कहते हैं, ‘अब मैंने ठान लिया है कि हर फिल्म के साथ अपनी फिजिक को बेहतर और बेहतर बनाता जाऊंगा। एक्सरसाइज करके एक नशा आता है।

अपने आप पर ध्यान देने की शुरुआत तब की जब 4 साल मैं घर पर बैठा था, मेरे पास कोई काम नहीं था और मेरे कैरियर में कुछ भी हो नहीं रहा था, तब मैंने निर्णय लिया कि अब मैं अपने आप पर बहुत ज्यादा ध्यान दूंगा, खुद को सुडौल बनाऊंगा, क्योंकि मैं जैसा दिखता था वैसा अब नहीं दिख रहा हूं। वजह थी खुद का खयाल नहीं रख रहा था।’

लगता था मेरे बच्चे क्या सोचते होंगे कि पापा कोई काम नहीं करते हैं, हमेशा घर पर ही रहते हैं

बॉबी आगे बताते हैं, ‘जब आप सही रास्ते पर नहीं होते हैं तो कभी-कभी गलत चीजों का चुनाव कर खुद को खुश करने की कोशिश भी करते हैं। इस सब के बावजूद आखिरकार हूं तो मैं भी एक इंसान ही न। गलतियां भी होंगी। जब बिना काम के मैं घर पर बैठा रहता था तो मेरे बच्चे मुझे घर पर ही देखते थे। मुझे लगता था क्या सोचते होंगे मेरे बारे में कि पापा कोई काम नहीं करते हैं हमेशा घर पर ही रहते हैं।

यह बात मुझे अंदर ही अंदर खाय जा रही थी। मैंने अपने पिता को देखा था कि वह हमेशा काम करते थे और उसी सोच के साथ बड़ा भी हुआ हूं। अब मेरे बच्चे मुझे देख रहे हैं घर पर बैठे हुए तो क्या सोचेंगे। इन्ही सब विचारों के बाद मैंने खुद को बदलने की कोशिश की और बदला।’

एक तरफ मेरी तैयारी चल रही थी और दूसरी ओर काम के लिए फील्डिंग

बॉबी बताते हैं, ‘फिल्म इंडस्ट्री के व्यवसाय में आपके पास काम कभी भी आ सकता है, लेकिन यदि आप तैयार नहीं है तो फिर वह काम आपके हाथ से चला भी जाएगा। यही वजह है कि मैंने खुद को तैयार करना शुरू किया था।

जब मैंने फिल्म पोस्टर बॉयज की शूटिंग शुरू की थी, उसके 1 महीने पहले से ही मैंने खुद पर ध्यान देना और खुद पर काम करना शुरू कर दिया था पोस्टर बॉयज के दौरान मैं शाम को 9 बजे सो जाता था और सुबह 3:00 बजे उठता था, एक्सरसाइज करता था फिर शूटिंग पर जाता था। एक तरफ इधर मेरी तैयारी चल रही थी और दूसरी ओर काम के लिए फील्डिंग, सलमान से मिलता रहता था इस बीच फिल्म यमला पगला दीवाना 3 भी शुरू हो गई थी।’

जब सलमान का करियर ठीक से नहीं चल रहा था तो वह सनी देओल और संजय दत्त की पीठ पर चढ़ गए थे

किसी फिल्म में पहली बार शर्ट उतारकर पोज दे रहे बॉबी बताते हैं, ‘मैं सलमान से कई बार मिलता रहता था तो सलमान ने मुझे मेरी दाढ़ी को लेकर टोका था और कहा था, क्या यह लंबी दाढ़ी बढ़ाकर रख ली है? देख, जब मेरा करियर ठीक से नहीं चल रहा था तो मैं सनी देओल और संजय दत्त की पीठ पर चढ़ गया था। तो मैंने सलमान को कहा कि मामू मुझे तेरी पीठ पर चढ़ने देना।

फिर मुझे असलियत समझ में आई कि अगर मैं अपनी सेहत का ख्याल नहीं रखूंगा तो उसकी पीठ पर चढ़कर मैं उसे भी गिरा दूंगा। मैंने जब फिल्म सोल्जर में काम किया था तब निर्माता रमेश तौरानी जी चाहते थे कि मैं अपनी शर्ट उतारूं, तब मैंने उन्हें कहा था कि इस शर्ट उतारने का क्या स्टाइल है, मुझसे यह सब नहीं होगा और मैंने स्लीवलेस पहनकर काम चलाया था।’

‘हाउसफुल 4’ में और भी ज्यादा बेहतर दिखूंगा। यह तो अभी शुरूआत है

बॉबी ने बताया, ‘जब रेस 3 की बात चल रही थी तब सलमान हमेशा चाहते थे कि मैं फिल्म में कास्ट किया जाऊं। जब सलमान ने रमेश जी को मुझे कास्ट करने की बात की तो वह बोले कि यार बॉबी शर्ट नहीं उतारता, तब सलमान का सीधा फोन मेरे पास आया और उन्होंने मुझसे पूछा कि बॉबी शर्ट उतारेगा तब जवाब में मैंने कहा था कि मैं कुछ भी करूंगा मामू।

इसलिए मैंने खूब कड़ी मेहनत की और अपनी बॉडी बनाई। उम्मीद कर रहा हूं कि फिल्म हाउसफुल 4 में और भी ज्यादा बेहतर दिखूंगा। यह तो अभी शुरुआत है। फिंगर क्रॉस करता हूं कि नजर ना लग जाए।’

‘रेस 3’ ईद के मौके पर 15 जून को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज़ हो रही है। बॉबी देओल के साथ फिल्म में सलमान खान, अनिल कपूर, बॉबी देओल, जैकलिन फर्नांडिस, डेजी शाह और साकिब सलीम भी अहम भूमिकाओं में हैं। फिल्म के ट्रेलर में खूब ऐक्शन सीन्स डाले गए हैं। फिल्म का निर्देशन रेमो डिसूजा ने किया है।