Home News National लालू जेल में हैं और हर दिन मर रहे हैं

लालू जेल में हैं और हर दिन मर रहे हैं

29
0
SHARE
uknews-rabri-devi

पटना: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी अपने आवास पर तैनात पुलिस के जवानों को वापस बुलाने के राज्‍य सरकार के फैसले पर हमलावर हो गई हैं।

हत्या की साजिश का आरोप

राबड़ी ने नीतीश सरकार पर अपनी और अपने परिवार की हत्या की साजिश का आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने जेल में खराब होती लालू प्रसाद यादव की तबीयत का जिक्र करते हुए भी आशंका जताई है कि कहीं उन्हें मारने की साजिश तो नहीं की जा रही। उन्होंने एक पत्र लिखकर किसी भी तरह की अप्रिय घटना होने पर गृह विभाग को उसका जिम्मेदार बताया है।

 

गौरतलब है कि रेलवे होटेल टेंडर घोटाला मामले में छापे और पूछताछ के बाद मंगलवार रात को राबड़ी की सुरक्षा हटा ली गई थी जिसके बाद उनके बेटे और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी अपनी सुरक्षा वापस कर दी थी। राबड़ी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘रात को 9 बजे हमारी सुरक्षा हटा ली गई है। देखिए कि यह सरकार क्या कर रही है। यह मुझे और मेरे परिवार को मारने की साजिश की जा रही है।’

जेल में लालू की तबीयत पर जताई चिंता

उन्होंने चारा घोटाले के चार मामलों में दोषी जेल में सजा काट रहे राष्ट्रीय जनता देल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव की सेहत रक चिंता जताते हुए कहा है, ‘यह नीतीश कुमार, सुशील मोदी और सरकार की साजिश है।

लालू जी जेल में हैं और हर दिन मर रहे हैं। पता नहीं वह बीमारी से मर रहे हैं या दवाइयों के सहारे मारे जा रहे हैं। उनका शुगर लेवल बढ़ता जा रहा है। मैं सरकार का भरोसा कैसे करूं?’ उन्होंने आगे कहा कि अगर सरकार उनसे घर खाली करने के लिए कहती है तो वह इसके लिए भी तैयार हैं।

‘अनहोनी के लिए गृह विभाग जिम्मेदार’

बिहार के सीएम नीतीश कुमार को लिखे पत्र में राबड़ी ने कहा है कि पुलिस के जवानों को वापस बुलाने के बाद उनके आवास की सुरक्षा ध्वस्त हो गई है। उन्होंने बाकी सुरक्षाकर्मियों और गाड़ियों को भी वापस करने की बात लिखी है और कहा है कि अगर उनके और उनके परिवार के साथ किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना होती है तो उसकी जिम्मेदारी गृह विभाग और गृह विभाग के मंत्री की होगी।

‘जनता के बीच रहेंगे’

उन्होंने कहा है कि उनकी और उनके परिवार की रक्षा अब जनता और पार्टी कार्यकर्ता करेंगे। इससे पहले मंगलवार को सुरक्षा हटाए जाने से गुस्साए तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा था, ‘हम नीतीश कुमार की तरह डरपोक और बुजदिल नहीं जो अपनी सुरक्षा के लिए 800 जवान तैनात रखेंगे। हम गरीब जनता के बीच रहते है जनता ही हमारी असल प्रहरी है।’