SHARE
uknews-pujara
पुजारा की सेंचुरी, भारत अभी भी 91 रन पीछे

रांची:चेतेश्वर पुजारा के नाबाद शतक की बदौलत भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टेस्ट में अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 6 विकेट खोकर 360 रन बना लिए हैं। पुजारा के अलावा लोकेश राहुल लोकेश राहुल (67) और मुरली विजय (82) ने अर्धशतक जमाया।

पैट कमिंस कंगारू रहे सफल गेंदबाज

वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम में शामिल किए गए युवा तेज गेंदबाज पैट कमिंस कंगारू खेमे के सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने विराट कोहली समेत कुल 4 विकेट अपने नाम किए।

भारत अभी भी 91 रन पीछे

ऑस्ट्रेलिया के पहली पारी के विशाल स्कोर 451 रनों के मुकाबले भारत अभी भी 91 रन पीछे है। पुजारा के साथ विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा 18 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं। भारत ने तीसरे दिन के पहले सत्र में मुरली का विकेट गंवाया।

दूसरे सत्र में मेजबानों ने अंजिक्य रहाणे (14) और विराट कोहली (6) के रूप में दो महत्वपूर्ण विकेट गंवाए जिससे एक समय मजबूत स्थिति में दिख रही टीम इंडिया को थोड़ा झटका जरूर लगा। कंगारू टीम ने दिन के अंतिम सत्र में भी नायर (23) और अश्विन (3) के रूप में भारत को दो झटके और दिए।

भारत की रन गति भी धीमी

टीम इंडिया ने जब अपना छठा विकेट गंवाया, तब भी भारत ऑस्ट्रेलिया के पहली पारी के स्कोर से 123 रन पीछे था। दिन के अंतिम सत्र में भारत की रन गति भी धीमी हो गई। अंतिम सत्र में भारतीय टीम ने सिर्फ 57 रन और जोड़े। भारत के लिए राहत भरी बात यह रही कि पुजारा अब भी सुरक्षित क्रीज पर डटे हुए हैं।

कप्तान कोहली से थीं काफी उम्मीदें

इससे पहल आज मैच के तीसरे दिन भोजनकाल तक भारत ने दो विकेट के नुकसान पर 193 रन बनाए थे। दूसरे सत्र में मेजबानों ने 110 रन जोड़े। भोजनकाल के बाद खेलने उतरी मेजबान टीम को अपने कप्तान कोहली से काफी उम्मीदें थीं।

स्मिथ ने पकड़ा विराट का शानदार कैच

फील्डिंग के दौरान कंधे में चोट लगने के बाद विराट मैदान से दूर थे। बल्लेबाजी करने आए कप्तान ज्यादा कुछ नहीं कर पाए। वह पैट कमिंस की गेंद पर ड्राइव करने गए, लेकिन गेंद बल्ले का बाहरी किनारा लेकर दूसरे स्लिप में गई जहां ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ ने उनका शानदार कैच पकड़ा।

रहाणे लय पकड़ने की कोशिश

उप-कप्तान रहाणे लय पकड़ने की कोशिश कर रहे थे, तभी पैट कमिंस की बाउंस को भांपने में वह गलती कर बैठे और विकेट के पीछे मैथ्यू वेड के हाथों लपके गए। इसके बाद नायर ने क्रीज पर कदम रखा।

दूसरे छोर पर खड़े पुजारा ने 94वें ओवर की चौथी गेंद पर कमिंस पर चौका मार अपना शतक पूरा किया। यह इस सीरीज में किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा लगाया गया यह पहला शतक है। उन्होंने अपनी पारी में अभी तक 17 बार गेंद को सीमा रेखा के पार पहुंचाया है।

विजय और पुजारा की अच्छी बल्लेबाजी

इससे पहले अपने पहले दिन के स्कोर एक विकेट पर 120 रनों से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम ने शनिवार को पहले सत्र में एक विकेट खोकर अपने खाते में 73 रन जोड़े। पहले दिन राहुल के आउट होने के बाद भारत को अच्छी स्थिति में पहुंचाने वाली विजय और पुजारा की जोड़ी ने इस सत्र में भी अच्छी बल्लेबाजी की।

विजय ने 15वां अर्धशतक किया पूरा

अपने करियर का 50वां टेस्ट मैच खेल रहे विजय ने 50वें ओवर की पहली गेंद पर एक रन लेकर अपना 15वां अर्धशतक पूरा किया। शतक की ओर बढ़ रहे विजय जब 82 के निजी स्कोर पर थे, तब स्टीव ओ’कीफ की गेंद पर आगे बढ़कर शॉट मारने का प्रयास किया, लेकिन चूक गए और वेड ने उन्हें स्टम्पिंग करने में कोई गलती नहीं की।

विजय,पुजारा की शानदार शतकीय साझेदारी

183 गेंदों पर 10 चौके और एक छक्का लगाने वाले विजय ने पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 102 रनों की शानदार शतकीय साझेदारी की। विजय 193 के कुल योग पर आउट हुए और इसके साथ ही भोजनकाल की घोषणा कर दी गई। विजय और पुजारा की जोड़ी की 2016-17 सत्र में छठी शतकीय साझेदारी थी। वह ऐसा करने वाली विश्व की दूसरी जोड़ी बन गए।

इससे पहले, एक सत्र में सबसे ज्यादा शतकीय साझेदारी करने का रेकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन और रिकी पोंटिंग के नाम है, जिन्होंने 2005-06 सत्र में सबसे अधिक सात शतकीय साझेदारियां की थीं। इसके अलावा, राहुल और पुजारा की जोड़ी एक सत्र में भारत के लिए सबसे अधिक रनों की साझेदारी करने वाली दूसरी जोड़ी भी बन गई।

उन्होंने 2016-17 सत्र में 954 रन बनाए हैं। इस सूची में पहला नाम राहुल द्रविड़ और गौतम गंभीर की जोड़ी का है। राहुल और गौतम ने 2008-09 सत्र में भारत के लिए 14 पारियों में 961 रनों की साझेदारी की थी।

LEAVE A REPLY