Home Uttarakhand Kumaun सरोवर नगरी को सुन्दर व स्वच्छ बनाने की कार्ययोजना प्रस्तुत की

सरोवर नगरी को सुन्दर व स्वच्छ बनाने की कार्ययोजना प्रस्तुत की

78
0
SHARE
uknews-Boarding meeting with the officials of the Basics Municipal West Venture
बैसिक्स म्यूनिसिपल वेस्ट वेंचर के पदाधिकारियों के साथ बैठक करते मंडलायुक्त।
नैनीताल। इन्दौर देश के सबसे साफ और सुन्दर नगरों में शुमार हुआ है। इन्दौर शहर को भारत सरकार द्वारा देश के सबसे स्वच्छ और सुन्दर शहर का दर्जा दिया है। इन्दौर की तरह कुमायूॅ मण्डल के कई शहरों को स्वच्छ और सुन्दर बनाने की कवायद में आयुक्त कुमायूॅ राजीव रौतेला पूरी शिद्दत के साथ जुट गये हैं। इन्दौर शहर को साफ सुथरा बनाने वाली स्वयं सेवी संस्था पिछले एक सप्ताह से सरोवर नगरी में अध्ययन कर रही है। बैसिक्स म्यूनिसिपल वेस्ट वेंचर के मेनेजर संचालन दीपक कुमार साहू द्वारा डाटा प्रजेन्टेशन के माध्यम से प्रस्तुतिकरण किया तथा सरोवर नगरी के सुन्दर व स्वच्छ बनाने की कार्य योजना भी प्रस्तुत की।

इन्दौर देश के सबसे साफ और सुन्दर नगरों में शुमार

इस अवसर पर आयुक्त रौतेला ने कहा कि कुमायूॅ के कई शहरों को स्वच्छ व सुन्दर बनाये जाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। प्रथम चरण में सरोवर नगरी को शतप्रतिशत स्वच्छ एवं सुन्दर बनाने का कार्य किया जायेगा। इसके बाद हल्द्वानी, टनकपुर, रूद्रपुर तथा काशीपुर को शतप्रतिशत स्वच्छ किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इन शहरों को इन्दौर की तर्ज पर स्वच्छ भारत मिशन के तहत स्वच्छ एवं सुन्दर बनाया जायेगा।
उन्होंने कहा कि प्राकृतिक रूप से धनी कुमायूॅ के शहरों को हमने अपने निजी स्वार्थों के चलते कूड़े से पाट दिया है, जिससे इन शहरों की सुन्दरता व पर्यावरण पर ग्रहण लग गया है। हमें जन सहयोग, जन आन्दोलन एवं प्रशासनिक प्रयासों के जरिये इन शहरों को स्वच्छ रखना होगा ताकि स्वच्छ वातावरण में पर्यटक कुमायूॅ की वादियों और पर्यटक स्थलों का दीदार कर सकें।

प्लास्टिक की थैलियों के प्रयोग की आदत भी हमें छोड़नी होगी

संस्था के श्री साहू ने प्रस्तुतिकरण के दौरान बताया कि नैनीताल शहर में अध्ययन के दौरान उन्होंने पाया कि 40 प्रतिशत कूड़ा ही घरों से नगर पालिका द्वारा संकलित किया जा रहा है, जबकि कूड़े का शतप्रतिशत उठान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि शहर को स्वच्छ बनाने में जन सहभागिता महत्वपूर्ण है, बिना इसके किसी भी शहर को साफ नहीं रख सकते। उन्होंने बताया कि इस कार्य में विद्यलायों, अस्पतालों, होटलों का भी सहयोग लेना होगा। इसके साथ ही प्लास्टिक की थैलियों के प्रयोग की आदत भी हमें छोड़नी होगी।
नगर पालिका के अधिकारियों एवं पर्यावरण मित्रों को पूरी मेहनत के साथ काम करना होगा। उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा नैनीताल शहर का अध्ययन कर लिया गया है।इसकी विस्तृत रिपोर्ट और कार्य योजना जल्द ही प्रस्तुत कर दी जायेगी। श्री साहू ने कहा कि संस्था नैनीताल शहर के साथ ही अन्य शहरों को भी साफ व सुन्दर बनाने में पूर्ण सहयोग करेंगी। इस काम में संस्था की ओर से कोई कमी नहीं रखी जायेगी।

कैण्टोमेन्ट क्षेत्र शतप्रतिशत स्वच्छ

कैण्टोमेन्ट बोर्ड के सीईओ अभिषेक राठौर ने बताया कि उन्होंने जन सहयोग से कैण्टोमेन्ट क्षेत्र को शतप्रतिशत स्वच्छ कर दिया है। उनका प्रयास होगा कि वह जन सहयोग व प्रशासनिक सहयोग से स्वच्छ बनायेंगे। बैठक में जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन, संयुक्त मजिस्ट्रेट अभिषेक रौहेला, नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया, जय भारत सिंह, अधिशासी अधिकारी रोहिताश शर्मा के अलावा प्रगति, अर्पण, लतिका तथा पूनम आदि मौजूद थे।