Home News National देश के सबसे लंबे पुल का उद्धाटन

देश के सबसे लंबे पुल का उद्धाटन

1569
0
SHARE
uknews-PM inaugurates India's longest rail-cum-road bridge over the Brahmaputra river at Bogibeel

डिब्रूगढ़: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम में ब्रह्मपुत्र नदी पर बने देश के सबसे लंबे (4.94 किलोमीटर) रेल-रोड ब्रिज (बोगीबील पुल) का उद्घाटन किया। इस पुल की वजह से अरुणाचल प्रदेश और चीन की सीमा से सटे अन्य प्रदेशों में आवागमन आसान हो जाएगा। धेमाजी डिस्ट्रिक्ट और डिब्रूगढ़ जिले के बीच बने इस रेल-रोड ब्रिज के उद्घाटन के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिब्रूगढ़ में जनसभा को संबोधित किया।

जनसभा में पीएम मोदी ने कहा कि किसी ने सोचा भी नहीं था कि हेलिकॉप्टर सौदे में हुए घोटाले का राजदार भारत आएगा लेकिन हमारी सरकार ने उस राजदार को कानून के हवाले किया। प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन के दौरान असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भी मौजूद रहे।

जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘आज का दिन ऐतिहासिक है। आप सभी को देश के सबसे लंबे रेल-रोड ब्रिज की बधाई।’ यही नहीं, संबोधन की शुरुआत पीएम मोदी ने आसामी भाषा में की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘सुशासन के लिए विख्यात हम सबके श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयीजी का आज जन्मदिन है।

उनके जन्मदिन को हम सुशासन के तौर पर मनाते हैं।’ उन्होंने कहा, ‘यह ब्रिज सिर्फ एक ब्रिज नहीं है बल्कि असम और अरुणाचल के लोगों के लिए लाइफ लाइन है। इस ब्रिज की वजह से ईंटानगर और डिब्रूगढ़ के बीच की दूरी 200 किमी से भी कम रह गई है।’

‘वाजपेयीजी की सरकार के बाद प्रॉजेक्ट नहीं हुए पूरे’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘लगभग 16 वर्ष पहले अटलजी यहां आए थे। उनका सपना था कि बोगीबील ब्रिज का विकास हो। यह ब्रिज उन्हें श्रद्धांजलि है। जब 2004 में वाजपेयीजी की सरकार चली गई, विकास से जुड़े कई महत्वपूर्ण प्रॉजेक्ट नहीं पूरे किए गए थे।’

‘2014 में सरकार बनने के बाद सारी बाधाओं को किया दूर’

पीएम मोदी ने कहा, ‘2014 में सरकार बनने के बाद हमने इस प्रॉजेक्ट की दिशा में आने वाली सारी बाधाओं को दूर किया और करीब 6000 करोड़ की लागत से बने इस ब्रिज को देश को समर्पित किया। अटलजी के जन्मदिवस पर उन्हें आज उत्तम श्रद्धांजलि दी है।’ पीएम मोदी ने कहा कि ऐसी परियोजनाओं में होने वाली देरी भारत के विकास पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रही थीं।

उन्होंने कहा, ‘जब हमने कार्यभार संभाला, हमने इन परियोजनाओं में तेजी लाई और उनके शीघ्र पूर्ण होने की दिशा में काम किया।’ इसके साथ ही पीएम मोदी ने राज्य की सर्वानंद सोनोवाल सरकार का भी सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ‘लक्ष्य के मुताबिक बच्चों को पढ़ाई, युवाओं को कमाई, बुजुर्गों को दवाई मिलने के साथ ही जन-जन की सुनवाई हो रही है।’

‘हमारी सरकार ने खुलवाए 1.5 करोड़ खाते’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ’32 लाख शौचालय असम में बन चुके हैं, जिसकी वजह से स्वच्छता का दायरा 38 फीसदी से 98 फीसदी हो गया है। असम में विद्युतीकरण का दायरा 50 प्रतिशत से 90 प्रतिशत तक हो चुका है। याद कीजिए पहले बैंकों में लोगों के खाते ही नहीं थे। डेढ़ करोड़ खाते असम में हमारी सरकार ने खुलवाए हैं।

गरीब का, शोषित का, वंचित का सबसे ज्यादा कोई नुकसान करता है तो वह भ्रष्टाचार है। भ्रष्टाचार गरीब से उसका अधिकार छीनता है। पिछले चार-साढ़े चार साल से हमारी सरकार गरीब को अधिकार दिला रही है वहीं, भ्रष्टाचार के खिलाफ मजबूती से लड़ रही है।’

पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्रह्मपुत्र नदी पर बने देश के सबसे लंबे रेल कम रोड ब्रिज का उद्घाटन किया। इस पुल की वजह से अरुणाचल प्रदेश और चीन की सीमा से सटे अन्य प्रदेशों से आवागमन आसान हो जाएगा। इस पुल की आधारशिला 1997 में तत्कालीन प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने रखी थी। हालांकि इसका निर्माण कार्य 2002 में अटल सरकार में शुरू किया गया।

इस पुल को चीन के साथ लगती सीमा पर रक्षा साजो-सामान के लिए एक बड़ा प्रोत्साहन माना जा रहा है। इस पुल की लंबाई 4.94 किलोमीटर है। यह पुल असम के डिब्रूगढ़ को धीमाजी से जोड़ेगा।

एशिया के इस दूसरे सबसे बड़े पुल में सबसे ऊपर एक तीन लेन की सड़क है और उसके नीचे दोहरी रेल लाइन है। यह पुल ब्रह्मपुत्र के जलस्तर से 32 मीटर की ऊंचाई पर है। इसे स्वीडन और डेनमार्क को जोड़ने वाले पुल की तर्ज पर बनाया गया है। अभी डिब्रूगढ़ से अरुणाचल प्रदेश जाने के लिए व्यक्ति को गुवाहाटी होकर जाना होता है और उसे 500 किलोमीटर से अधिक दूरी तय करनी होती है। इस पुल से यह यात्रा 100 किलोमीटर से कम रह जाएगी।

पुल पूर्वोत्तर में विकास का प्रतीक

अधिकारियों के अनुसार सरकार के लिए यह पुल पूर्वोत्तर में विकास का प्रतीक और चीनी सीमा पर तैनात सशस्त्र बलों के लिए तेजपुर से आपूर्ति प्राप्त करने के लिए साजो-सामान संबंधी मुद्दे को हल करने की दिशा में एक रणनीतिक कदम है। बोगीबील पुल भूकंप प्रभावित क्षेत्र में बना है। यहां रिक्टर पैमाने के 7 स्केल तक का भूकंप आता रहा है। इस पुल को भूकंपरोधी बनाया गया है जो 7 तीव्रता से ज्यादा के भूकंप में भी धराशायी नहीं होगा।

‘हेलिकॉप्टर घोटाले के राजदार को हमारी सरकार लाई भारत’

अगुस्टा वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर सौदे मामले के कथित बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल पर पीएम मोदी ने कहा, ‘हेलिकॉप्टर घोटाले का सबसे बड़ा राजदार भारत तक पहुंचेगा यह किसी ने सोचा भी नहीं था लेकिन हमारी सरकार ने इस राजदार को कानून के हवाले करने का काम किया है।’ पीएम मोदी ने कहा, ‘भ्रष्टाचार खत्म होने से देश विकास करता है। हमारे खेलों में भी इसका असर देखने को मिल रहा है। असम समेत दूर-दराज गांवों से युवा देश का नाम रोशन कर रहे हैं। हिमा दास समेत अनेक युवा साथी देश का परचम लहरा रहे हैं।’

‘बिना बैंक गारंटी सात लाख करोड़ रुपये का दिया कर्ज’

प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व की सरकारों पर तंज कसते हुए कहा, ‘एक तरफ हमारी सरकार ने महिलाओं को, नौजवानों को स्वरोजगार के लिए मुद्रा योजना के तहत बिना बैंक गारंटी 7 लाख करोड़ रुपए का कर्ज दिया है, तो वहीं दूसरी तरफ पहले की सरकार ने बैंकों के जो लाखों करोड़ फंसाए थे, उसमें से तीन लाख करोड़ रुपए हमारी सरकार वापस भी ला चुकी है।’