Home Uttarakhand Capital Doon पुलिस का काम पीड़ित को न्याय दिलाना है

पुलिस का काम पीड़ित को न्याय दिलाना है

4553
0
SHARE
uknews-DGP Anil Kumar Rathodi meeting in the context of the election of the Police in charge of the police in charge and video conferencing of the enclosure chargeers
डीजीपी अनिल कुमार रतूड़ी लोस चुनाव के परिपेक्ष्य में पुलिस के जिला प्रभारी व परिक्षेत्र प्रभारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक लेते हुए
देहरादून। पुलिस महानिदेशक अनिल के0 रतूड़ी की अध्यक्षता में पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में प्रदेश के सभी जनपद प्रभारियों व परिक्षेत्र प्रभारियों की वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से आगामी लोकसभा चुनाव के परिप्रेक्ष्य में बैठक आयोजित की गयी।

डीजीपी ने लोस चुनाव को लेकर जिले के प्रभारी व परिक्षेत्र प्रभारियों को दिए दिशा-निर्देश

रतूड़ी ने पुलिस बल का मतदान केन्द्र पर सही ढंग से उपयोग कराये जाने पर बल दिया जिससे कोई अप्रत्यक्ष घटना न घट सके। उन्होंने चुनाव निष्पक्ष और शान्तिपूर्ण रूप से कराये जाने हेतु जनपद प्रभारियों को निर्देशित किया। साथ ही जनपद प्रभारियों को चुनाव आयोग द्वारा भेजे गये दिशा-निर्देशों का स्वयं अवलोकन कर उनका अनुपालन कराने एवं अपने-अपने जनपदों में चुनाव सेल स्थापित करने हेतु भी निर्देशित किया।

विधानसभा सत्र के लिए भी शुरू कर लें तैयारी

महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने कहा कि पुलिस का काम पीड़ित को न्याय दिलाना है। जो भी शिकायतकर्ता थाना व चैकी पर आता है, उसका शिकायती प्रार्थना पत्र प्राप्त कर उस पर वैधानिक कार्यवाही करते हुए जी0डी0 में इण्ट्री कर शिकायतकर्ता को उसकी रिसीविंग दी जाये। आगामी विधानसभा सत्र के लिए भी तैयारी शुरू कर लें।

महत्वपूर्ण सूचनाओं के अदान-प्रदान हेतु व्हाट्सएप ग्रुप बनाये जाने का निर्देश

पोक्सो एक्ट एवं रेप के अभियोगों की विवेचना 02 माह के भीतर पूर्ण कराने हेतु भी निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग के निर्देशों के दायरे में आने वाले निरीक्षक, उपनिरीक्षकों के एक सप्ताह में स्थानान्तरण कर दिये जाये। प्रदेश की अर्न्तराज्यीय सीमाओं से लगने वाले राज्यों से समन्वय स्थापित कर पुलिस उपमहानिरीक्षक, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों को बार्डर मीटिंग आयोजित किये जाने एवं आपस में आपराधिक तत्वों एवं महत्वपूर्ण सूचनाओं के अदान-प्रदान हेतु व्हाट्सएप ग्रुप बनाये जाने हेतु निर्देशित किया गया।
शरारती तत्वों पर 107, 116 एवं 151 सीआरपीसी, गुण्डा व गैंगेस्टर एक्ट के अन्तर्गत निरोधात्मक कार्यवाही, शस्त्रों का सत्यापन कराने एवं अवैध शराब पर भी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये। जनपद में नियुक्त पुलिस बल का पदवार परीक्षण कराने और फोर्स की आवश्यकता हेतु आकंलन करने हेतु भी निर्देशित किया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस उपाधीक्षक द्वारा मतदान केन्द्रों का भ्रमण व प्रत्येक मतदान केन्द्र से सम्बन्धित महत्वपूर्ण जानकारी की अभिलेखीयकरण कर लिया जाये।

संवेदनशील मतदान केन्द्रों का कर लिया जाये आंकलन

भौगोलिक, साम्प्रदायिकता, चुनावी रंजिश आदि कारणों से संवेदनशील मतदान केन्द्रों का आंकलन कर लिया जाये। बाहर से आने वाले सीएपीएफ, होमगार्ड, पीएसी के रहने हेतु उपयुक्त आवसीय व्यवस्था, संचार व्यवस्था व लाने-ले जाने हेतु चिन्हित वाहनों की तैयारी कर लें। यह सुनिश्चित कर लें कि वर्ष 2014 एवं 2017 के चुनाव से सम्बन्धित मुकदमें लम्बित न हो।
आगामी गणतंत्र दिवस के अवसर पर सतर्क रहते हुए रेलवे स्टेशन, बस स्टेण्ड, महत्वपूर्ण स्थानों, भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर सघन चैकिंग अभियान चलाये जाने हेतु भी निर्देशित किया गया। बैठक में वी0 विनय कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, प्रशासन व अभिसूचना, सुरक्षा,  दीपम सेठ, पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, जी0एस0 मार्तोलिया, पुलिस महानिरीक्षक, मुख्यालय, अजय रौतेला, पुलिस महानिरीक्षक, गढ़वाल परिक्षेत्र, केवल खुराना, निदेशक यातायात, सहित अन्य पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।