Home Uttarakhand Garhwal केदारनाथ धाम में पहली बार रूद्राक्ष के पौधे का रोपण

केदारनाथ धाम में पहली बार रूद्राक्ष के पौधे का रोपण

48
0
SHARE
uknews-Police personnel carrying the Rudraksh plant to Kedarnath Dham
रूद्राक्ष के पौधे को केदारनाथ धाम में पहुंचाते पुलिस के जवान।
रुद्रप्रयाग। केदारनाथ में तैनात पुलिस कर्मियों ने केदारनाथ में रूद्राक्ष के पौधे को पहुंचाकर इतिहास रचने का कार्य किया है। पहली बार केदारनाथ धाम में रूद्राक्ष के पौधे का रोपण हुआ है।

डेढ़ कुंतल पौधों को पैदल मार्ग से जवानों ने पहुंचाया धाम

भारी बारिश के बीच गौरीकुंड-केदारनाथ 18 किमी पैदल यात्रा मार्ग से केदारनाथ धाम में लगभग डेढ़ कुंतल का रूद्राक्ष का पेड़ पहुंचाया गया। जिसकी विधिवत पूजा-अर्चना करने के बाद स्थापना की गई है। अब देश-विदेश से बाबा के दराबर में पहुंचने वाले भक्तों को भगवान शिव के अतिप्रिय रूद्राक्ष के पौधे के दर्शन भी होंगे।

भगवान शिव को अतिप्रिय है रूद्राक्ष

दरअसल, भगवान शिव के ग्यारहवें ज्योतिर्लिंग के रूप में विख्यात केदारनाथ धाम में आज तक रूद्राक्ष का पौधा नहीं था। माना जाता है कि भगवान शिव को रूद्राक्ष अतिप्रिय है। रूद्राक्ष की माला धारण करने से भी मनुष्य के पाप दूर होते हैं।

देहरादून से मंगवाया गया था रूद्राक्ष का पेड़

रूद्राक्ष को भगवान शिव का ही स्वरूप माना जाता है, लेकिन शिव धाम होने के बाद भी केदारनाथ धाम में रूद्राक्ष नहीं था। जिसे देखते हुये केदारनाथ में मौजूद पुलिस कर्मियों ने केदारनाथ धाम के लिये रूद्राक्ष का पौधा मंगवाया। पुलिस ने केदारनाथ के लिये रूद्राक्ष के पौधे को देहरादून से गौरीकुंड तक वाहन से मंगवाया।
इसके बाद गौरीकुंड से केदारनाथ तक 18 किमी की चढ़ाई पर पुलिस के जवान लगभग डेढ़ कुंतल के इस पौधे को स्वयं अपने कंधों पर धाम में ले गये। जहां पुलिस चैकी केदारनाथ के नंदी बेस कैंप में विधिवत पूजा-अर्चना के साथ रूद्राक्ष के पौधे का वृक्षा रोपण किया गया।
इस दौरान पुलिस कर्मियों ने श्रद्धालुओं को प्रसाद भी वितरित किया। अब केदारनाथ दर्शनों के लिये पहुंचने वाले यात्रियों को एक साथ केदारनाथ धाम में ब्रम्हकमल और रूद्राक्ष के दर्शन हो जाएंगे। रूद्राक्ष और ब्रम्हकमल भगवान शिव को अति प्यारे होते हैं। केदारनाथ पुलिस चैकी इंचार्ज बिपिन चन्द्र पाठक के नेतृत्व में रूद्राक्ष का पौधा केदारनाथ धाम में पहुंचा है।
चैकी इंचार्ज ने ही केदारनाथ में ब्रम्हवाटिका की स्थापना की है और वही चाहते थे कि अब धाम में रूद्राक्ष का भी पौधा हो। उन्होंने कहा कि पुलिस के जवान गौरीकंुड से केदारनाथ तक पौधों को अपने कंधों पे ले आये। सभी जवानों ने रूद्राक्ष के पौधे को धाम तक पहुंचाने में अपना पूरा सहयोग दिया है।

पौधे को धाम तक पहुंचाने में जवानों ने दिया पूरा सहयोग

भारी बारिश के बीच भी जवान पौधे को धाम में लाते रहे। उन्होंने कहा कि केदारनाथ के मुख्य पुजारी गंगाधर लिंग के साथ ही स्थानीय तीर्थ पुरोहित भी इस पहल की सराहना कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पौधे के धाम में पहुंचने के बाद विधिवत पूजा की गई। सभी श्रद्धालुओं के लिये बाबा केदार को चढ़ने वाला प्रसाद बनाया गया। उन्होंने कहा कि पौधे को केदारनाथ धाम पहुंचाने में राहुल कुमार, जीतपाल सिंह नेगी आदि का सहयोग रहा।