SHARE
uknews-guldaar

देहरादून: रायपुर क्षेत्र की कई कालोनियों में गुलदार के आतंक से लोग सहमे हुए हैं। गुलदार ने एक युवक को घायल कर दिया। वन विभाग की टीम ने जब उसे पकड़ने का प्रयास किया तो वह चकमा देकर भाग निकला। हालांकि बाद में वन विभाग की टीम ने रायपुर स्थित डील के समीप एक मकान से गुलदार को पकड़ लिया।

गुलदार का आतंक

पिछले करीब एक माह से शहर के सहस्त्रधारा रोड और रायपुर क्षेत्र की कालोनियों में गुलदार का आतंक बना हुआ है। गुलदार की धमक से लोग डरे हुए हैं। रात को लोगों का घरों से बाहर निकलना भी मुश्किल होता जा रहा है।

युवक पर हमला कर किया घायल

सुमनपुरी कालोनी में सुबह गुलदार ने सुमीत नाम के युवक पर हमला कर उसे घायल कर दिया। युवक के हाथ गुलदार के पंजे से लहूलुहान हो गया। इसके बाद गुलदार रायपुर रोड स्थित मित्तल वैडिंग प्वाइंट के निकट देखा गया। इस दौरान एक घर में घुसने से लोगों की मौके पर भीड़ लग गई। तभी गुलदार वहां से भागकर मित्तल वैडिंग प्वाइंट की रसोईघर में चला गया।

कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ने में कामयाबी हासिल

सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और गुलदार को ट्रेंक्यूलाइज करने का प्रयास किया। बताया जा रहा है वन विभाग की टीम ने जब उस पर ट्रेंक्यूलाइज गन से फायर किया तो वह बेहोश नहीं हुआ और वहां से भाग गया। उसकी तलाश में वन विभाग की टीम जुट गर्इ और कड़ी मशक्कत के बाद उसे पकड़ने में कामयाबी हासिल की।

आर्मी कैंट में एक बार फिर घुस आया गुलदार

हल्द्वानी: आर्मी कैंट में एक बार फिर गुलदार घुस आया। इससे वहां अफरा तफरी मच गई। सूचना पाकर ज़ू के डिप्टी डायरेक्टर जीएस कार्की के साथ वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और घंटों की मशक्कत के बाद गुलदार को पकड़ लिया।

आर्मी कैंट में गुलदार के घुसने का ये पहला मामला नहीं है। करीब दो महीने पहले भी यहीं पर एक गुलदार घुस आया था। वन विभाग की टीम ने करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद गुलदार को जाल और कंबल की मदद से पकड़ लिया। वन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि कैंट के अंदर हवाई पट्टी के पास दोनों तरफ जाल लगे हैं। उनके दोनों मुहाने खुले होने से आसपास के जंगल से गुलदार अंदर चले आते हैं।

नर गुलदार की उम्र करीब 8 से 9 माह की

वहीं विभाग के डिप्टी डायरेक्टर जीएस कार्की ने बताया कि पकड़े गए नर गुलदार की उम्र करीब 8 से 9 माह की है। उस पर चोट के कोई निशान नहीं मिलने पर उसे जंगल में छोड़ दिया गया है।

LEAVE A REPLY