SHARE

पहाड़ी क्षेत्रों में पैराग्लाइडिंग का अपना ही मजा है। देश-विदेश एवं मैदानी क्षेत्रों से लोग हर साल पैराग्लाइडिंग के लिए पर्वतीय क्षेत्रों का रुख करते हैं। एडवेंचर खेलों की सूची में शामिल पैराग्लाइडिंग को अब अल्मोड़ा में शुरू करने को लेकर प्रशासन ने कवायद शुरू कर दी है।

भीमताल की तर्ज पर अल्मोड़ा जिले में भी पर्यटन के क्षेत्र को बढ़ाने के लिए जिला प्रशासन लगातार कुछ न कुछ नया करने की कोशिश कर रहा है। पहाड़ों में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अल्मोड़ा में अब पैराग्लाइडिंग शुरू करने की तैयारी हो रही है।

पैराग्लाइडिंग से बढ़ेगा पर्यटन

इससे जाहिर है कि पैराग्लाइडिंग शुरू होगी तो पर्यटन भी बढ़ेगा। यहां पर पैराग्लाइडिंग शुरू करने के लिए भीमताल में सेवाएं दे रही एक निजी कंपनी के प्रतिनिधि ने डीएम इवा आशीष से अनुमति मांगी है। इस पर प्रशासन और विभागीय अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि पायलट की तरफ से पैराग्लाइडिंग की उड़ान देखने और उसकी तरफ से एनओसी मिलने के बाद अनुमति दी जाएगी।

डीएम ने कहा कि एक निश्चित आय का कुछ प्रतिशत राजस्व के रूप में लिए जाने की बात कंपनी से होनी है। ताकि पर्यटन विभाग को कुछ लाभ हो। संबंधित जगह पर पर्यटकों के लिए जरूरी सुविधाएं भी मुहैया कराई जा सकें। यह रोमांचकारी खेल और शौक है। इसके लिए जरूरी तकनीकी चीजों को देखना है।

कंपनी से कहा गया है कि वह पैराग्लाइडिंग के लिए चयनित मैदान में कोई पक्का निर्माण नहीं करेंगे। शौचालय का निर्माण और अन्य जरूरी स्थापना सुविधाएं भी अस्थायी होंगी।

जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति आर्या ने बताया कि अभी कंपनी से बात चल रही है। बरसात का मौसम खत्म होने के बाद पायलट यहां पर पैराग्लाइडर उड़ाकर देखेगा और प्रमाणपत्र देगा कि यहां पर उड़ान सफल और सुरक्षित है। तब विभाग यहां पर इस रोमांचकारी खेल के लिए कंपनी को एनओसी और अनुमति प्रदान करेगा।

अगले माह से है उम्मीद

उम्मीद यही जताई जा रही है कि अगले माह से अल्मोड़ा में भी लोग पैराग्लाइडिंग का मजा ले सकेंगे। अल्मोड़ा के ऊंचे इलाकों में पैराग्लाइडिंग शुरू करने को लेकर मंगलवार को एसडीएम विवके रॉय ने जिले के अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान अल्मोड़ा में पैराग्लाइडिंग की संभावनाओं को लेकर अधिकारियों ने अपने अपने विचार साझा किए।

बैठक में निर्णय लिया गया कि अल्मोड़ा में पैराग्लाइडिंग की शुरूआत फलसीमा स्थित उदयशंकर नाट्य एकेडमी से किया जाएगा। जिसके लिए स्थान का स्थलीय निरीक्षण का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर समेत कई अधिकारी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY