Home Uttarakhand Kumaun अधिकारी अपने मुख्यालयों में अनिवार्यरूप से रहे

अधिकारी अपने मुख्यालयों में अनिवार्यरूप से रहे

41
0
SHARE
uknews-While reviewing the plans in the DM meeting
डीएम बैठक में योजनाओं की समीक्षा करते हुए।

डीएम विनोद कुमार सुमन ने की केंद्रपोषित योजनाओं की समीक्षा

नैनीताल। कलक्ट्रेट सभागार में जिला योजना, राज्य सैक्टर, केन्द्रपोषित योजनाओं की समीक्षा करते हुये जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन ने कहा कि योजनान्तर्गत जो भी धनराशि अवमुक्त हुयी है कार्यो में गति लाकर व्यय करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि आगामी माहों में निर्वाचन भी होने हैं इसलिये अधिकारी अभी से जो भी कार्यो के टैन्डर आदि करने हैं कराने सुनिश्चित करें व कार्यो को प्रारम्भ करें।

कार्यो में गुणवत्ता व समयबद्धता पर दिया जाय विशेष ध्यान

कार्यो में गुणवत्ता व समयबद्धता पर विशेष ध्यान दिया जाय। उन्होंने कहा कि जो धनराशि जिस कार्य हेतु स्वीकृत की गयी है उसी कार्य में लगायी जाय तथा जिन विभागों को अभी तक राज्य व केन्द्रपोषित योजनाओं में कोई भी धनराशि अवमुक्त नहीं हुयी है वे अपने विभागाध्यक्षों से वार्ता करें व उनके माध्यम से विभागाध्यक्षों को पत्र लिखवायें व पत्र की प्रति सचिव को करें।

44 न्याय पंचायतों में 44 टीमें गठित

जिलाधिकारी सुमन ने कहा कि मानसून काल चल रहा है इसलिये अधिकारी अपने मुख्यालयों में अनिवार्यरूप से रहना सुनिश्चित करें तथा क्षेत्रों का नियमित भ्रमण करें किसी प्रकार की घटना की सूचना मिलते ही घटना स्थल का मौकामुआयना करें व स्थल पर मौजूद लोगों से वार्ता कर अपने उच्चाधिकारियों को सूचना का सम्प्रेषण करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने यह भी कहा कि आपदा के मद्देनजर जनपद के 44 न्याय पंचायतों में 44 टीमें गठित कर लगाई गयी हैं।
टीमें अपने न्याय पंचायतों का नियमित भ्रमण कर सूचनायें आपदा कन्ट्रोलरूम नं0-05942-231178, 79 व टाॅलफ्री नं0-1077 के साथ ही व्हाट्सएप ग्रुप मेें तत्काल देना सुनिश्चित करें तथा भ्रमण नोट भी जिला कार्यालय को उपलब्ध करायेंगे, जो टीम प्रभारी आपदा की सूचनायें तत्काल कन्ट्रोलरूम व व्हाट्सएप गु्रप में नहीं देंगे उनके खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत कार्यवाही करते हुये माह का वेतन भी रोका जायेगा।
उन्होंने कहा कि आपदा कार्यो हेतु जिस किसी विभाग का वाहन अधिग्रहण किया जायेगा वह तत्काल वाहन भेजना सुनिश्चित करेंगे नहीं तो कार्यवाही भी सुनिश्चित की जायेगी।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, मुख्य कोषाधिकारी अमिता आर्य, परियोजना निदेशक बालकृष्ण, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, अर्थ एवं संख्याधिकारी एलएम जोशी, अधिशासी अभियंता लोकनिर्माण सीएस नेगी, आरएस रावत, डीएस कुटियाल, एबी कान्डपाल, महेन्द्र कुमार, जलसंस्थान एसके उपाध्याय, विद्युत मौ0 उस्मान, नलकूप डीसी सनवाल, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा0 पीएस भण्डारी, कृषि अधिकारी धनपत कुमार, पूर्ति अधिकारी तेजबल सिंह, समाज कल्याण अधिकारी रवीन्द्र सिंह सामंत सहित सभी जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद थे।