Home News International परमाणु हथियार भी छोड़ने को तैयार है उत्तर कोरिया

परमाणु हथियार भी छोड़ने को तैयार है उत्तर कोरिया

36
0
SHARE
uknews-north korea and south korea

सोल: उत्तर और दक्षिण कोरिया ने अगले महीने के आखिर में बातचीत करने पर सहमति जताई है। इस बातचीत के बाद सोल ने मंगलवार को कहा कि प्योंगयांग का कहना है कि यदि उसे सुरक्षा गारंटी मिले तो वह अपने परमाणु हथियार भी छोड़ने के तैयार है।

सुरक्षा की गारंटी मिले तो परमाणु हथियार रखने का कोई कारण नहीं

प्योंगयांग में उत्तर कोरिया के नेता किम किम जोंग उन ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार चुंग यी योंग से कहा कि यदि नॉर्थ कोरिया को मिल रही सैन्य धमकियों का समाधान हो सके और उनके देश की सुरक्षा की गारंटी मिले तो उनके पास अपने परमाणु हथियार रखने का भी कोई कारण नहीं है।

मिसाइलों के परीक्षणों पर रोक लगाने पर सहमति

दक्षिण कोरिया का कहना है कि उत्तर कोरिया ने परमाणु हथियारों और मिसाइलों के परीक्षणों पर रोक लगाने पर सहमति जताई है। दक्षिण कोरिया के प्रेजिडेंशल नैशनल सिक्यॉरिटी अडवाइजर ने मंगलवार को कहा कि उत्तर कोरिया ने कहा कि वह वॉशिंगटन और प्योंगयांग के बीच संबंधों को सामान्य करने के लिए अमेरिका से बात करने के लिए तैयार है।

परमाणु हथियार का इस्तेमाल नहीं करने का वादा

इसके अलावा उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के खिलाफ किसी भी पारंपरिक या परमाणु हथियार का इस्तेमाल नहीं करने का वादा भी किया है। दोनों देश अप्रैल के आखिर में बातचीत करने पर भी सहमत हुए हैं।

सम्मेलन आयोजित करने को लेकर सहमति बनी

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच अंतर कोरियाई सम्मेलन आयोजित करने को लेकर एक समझौते पर सहमति बनी है। उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया के मुताबिक, दक्षिण कोरिया के प्रतिनिधियों ने देश के राष्ट्रपति मून जे इन का एक पत्र किम जोंग-उन को दिया, जिसमें मून ने सम्मेलन आयोजित करने की इच्छा व्यक्त की।

किम और दक्षिण कोरिया के राजदूतों ने कोरियाई प्रायद्वीप में सैन्य तनावों को कम करने और वार्ता एवं सहयोग को बढ़ावा देने के लिए अपने विचारों का आदान-प्रदान किया। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, किम जोंग उन ने सोल के प्रतिनिधिमंडल के साथ गंभीर वार्ता की और दोनों देशों के बीच के संबंधों को बढ़ाने और राष्ट्रीय पुनएर्कीकरण का नया इतिहास लिखने की अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति साझा की।

गौरतलब है कि फरवरी की शुरुआत में किम जोंग-उन की बहन किम यो जोंग ने शीतकालीन ओलम्पिक के मौके पर दक्षिण कोरिया का ऐतिहासिक दौरा किया था और मून को उत्तर कोरिया आने का न्यौता दिया था। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून ने इस निमंत्रण का स्वागत किया था।

LEAVE A REPLY