Home Entertainment श्रीदेवी को मॉम के लिए बेस्ट ऐक्ट्रेस का नैशनल अवॉर्ड मिला

श्रीदेवी को मॉम के लिए बेस्ट ऐक्ट्रेस का नैशनल अवॉर्ड मिला

55
0
SHARE
uknews-sridevi wins best actress national-awards

राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा

नई दिल्ली: राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है और ‘न्यूटन’ को बेस्ट हिंदी फिल्म का अवॉर्ड मिला है। इस फिल्म में शानदार अभिनय के लिए ऐक्टर पंकज त्रिपाठी को स्पेशल अवॉर्ड मिला है। दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी को मॉम के लिए बेस्ट ऐक्ट्रेस का नैशनल अवॉर्ड मिला है। आपको बता दें कि पिछले दिनों दुबई में श्रीदेवी की मौत हो गई थी।

नेशनल अवार्ड के इतिहास में यह पहली बार

नेशनल अवार्ड के इतिहास में यह पहली बार है, जब किसी अभिनेत्री को उनके निधन के बाद यह सम्मान घोषित किया गया है। इस घोषणा के बाद उनके पूरे परिवार के लोग इस बात से बेहद खुश हैं। अपनी ख़ुशी जाहिर करते हुए श्रीदेवी के पति बोनी कपूर, बेटी ख़ुशी और जाह्नवी कपूर ने स्टेटमेंट जारी कर कहा है कि हम सभी इस बात से बेहद खुश हैं कि मॉम (उनकी माँ) को यह सम्मान मिला है।

वो सुपर मॉम भी थीं और सुपर पत्नी भी थीं: बोनी कपूर

हम सबके लिए यह मोमेंट बेहद खास है और मॉम हम सभी के लिए काफी खास फिल्म है। श्रीदेवी हमेशा परफेक्शनिस्ट रहीं और हमें यह उनकी हर फिल्म में नजर आया। वह सुपर एक्टर भी थीं। वो सुपर मॉम भी थीं और सुपर पत्नी भी थीं। यह वक़्त है कि हम उनके इस खास मोमेंट को सेल्ब्रेट करें।

भारत सरकार को शुक्रिया

यह सच है कि आज वह हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनकी विरासत हमेशा हमारे साथ रहेगी। हम भारत सरकार को शुक्रिया कहना चाहेंगे, साथ ही जूरी मेम्बर्स को भी थैंक्स कहना चाहेंगे। साथ ही हम अपने और उनके सभी दोस्तों और फैन्स को भी तहे दिल से शुक्रिया कहना चाहेंगे जो हमें लगातार अपने विशेज भेज रहे हैं।

 

अलग-अलग भाषाओं की फिल्मों के लिए अवॉर्ड की घोषणा

uknews-Rajkummar-Prabhas

इसके अलावा बाहुबली-2 को बेस्ट ऐक्शन डायरेक्शन और बेस्ट स्पेशल इफेक्ट मूवी का खिताब मिला है। बेस्ट एडिटिंग का खिताब असम भाषा की मूवी ‘विलेज रॉकस्टार’ को मिला है। राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार कमिटी के चेयरमैन शेखर कपूर ने भारत की अलग-अलग भाषाओं की फिल्मों के लिए अवॉर्ड की घोषणा की। बेस्ट कोरियॉग्रफी का अवॉर्ड ‘टॉइलट-एक प्रेम कथा’ को गया है। इसमें गोरी तू लट्ठ मार गाने की कोरियॉग्रफी के लिए यह अवॉर्ड मिला है। इसकी कोरियॉग्रफी गणेश आचार्य ने की थी।

एआर रहमान को बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर अवॉर्ड

बेस्ट बैकग्राउंट म्यूजिक अवॉर्ड श्रीदेवी स्टारर मॉम को मिला है। मणि रत्नम की Kaatru Veliyidai के लिए एआर रहमान को बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर अवॉर्ड मिला है।

65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार की पूरी लिस्ट

बेस्ट ऐक्टर – ऋद्धि सेन (नगर कीर्तन)
बेस्ट ऐक्ट्रेस – श्रीदेवी (मॉम)
बेस्ट फिल्म – विलेज रॉकस्टार्स (असमिया भाषा)
दादा साहेब फाल्के – विनोद खन्ना
इंटरटेनर फिल्म ऑफ द इयर – बाहुबली (द कन्क्लूजन)
बेस्ट सपॉर्टिंग ऐक्ट्रेस – दिव्या दत्ता (इरादा)
बेस्ट सपॉर्टिंग ऐक्टर – फहाद फाजिल (तोंडीमुथलम दृक्शयम)
बेस्ट डायरेक्टर – जयराज
बेस्ट हिंदी फिल्म – न्यूटन
बेस्ट तेलुगू फिल्म – गाजी
बेस्ट लद्दाखी फिल्म – वॉकिंग विद द विंड
बेस्ट तमिल फिल्म – टू लेट
बेस्ट बंगाली फिल्म – मयूरक्षी
बेस्ट कन्नड़ फिल्म – हेब्बत रामाक्का
बेस्ट मलयालम फिल्म – थोंडीमुथलम दृक्शियम
बेस्ट उड़िया फिल्म – हेलो आर्सी
बेस्ट मराठी फिल्म – कच्चा लिंबू
बेस्ट गुजराती फिल्म – दह..
बेस्ट असम फिल्म – इशू
बेस्ट ऐक्शन डायरेक्शन अवॉर्ड – अब्बास अली मोगुल (बाहुबली- द कन्क्लूजन)
बेस्ट म्यूजिक डायरेक्टर – ए. आर. रहमान (‘कात्रु वेलियिदाई’ के लिए)
बेस्ट लिरिक्स – जे एम प्रहलाद
बेस्ट कोरियॉग्रफर – गणेश आचार्य (‘गोरी तू लठ्ठ मार…’ गाने के लिए)
बेस्ट जूरी अवॉर्ड – नगर कीर्तन
बेस्ट मेकअप आर्टिस्ट – राम रज्जक (नगर कीर्तन)
बेस्ट प्रॉडक्शन डिजाइन – संतोष रमन (टेक ऑफ)
स्क्रीनप्ले राइटर (ऑरिजनल) – संजीव पजहूर (तोंडीमुथलम दृक्शयम)
स्क्रीनप्ले राइटर (अडाप्टेड) – जयराज (भयानकम)
बेस्ट डायलॉग – संबित मोहंते (हेलो अर्सी)
बेस्ट सिनेमटॉग्रफी – ‘भयानकम’
बेस्ट फीमेल प्लेबैक सिंगर – शशा तिरुपति (‘कात्रु वेलियिदाई’ गाने के लिए)
बेस्ट चाइल्ड आर्टिस्ट – बनिता दास (विलेज रॉकस्टार्स)

दिवंगत ऐक्टर विनोद खन्ना को मिला ‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड’

अपनी दमदार ऐक्टिंग के लिए जाने जानेवाले बॉलिवुड के दिवंगत ऐक्टर विनोद खन्ना को भारतीय फिल्म जगत के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार ‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया है। इस नाम पर 5 सदस्यों की जूरी ने मिलकर अपनी सहमति जताई। बता दें कि इस अवॉर्ड की रेस में बॉलिवुड के दो बड़े नाम अमिताभ बच्चन और धर्मेंन्द्र भी शामिल थे।

विनोद खन्ना एक अच्छे इंसान भी थे: जूरी

जूरी सदस्यों का कहना था कि विनोद खन्ना बॉलिवुड के उन सितारों में शामिल हैं, जो न केवल एक शानदार अभिनेता थे बल्कि एक अच्छे इंसान भी थे। उन्होंने अलग-अलग क्षेत्रों में काम किया है। बता दें कि इस अवॉर्ड के लिए 15 हस्तियों की लिस्ट तैयार की गई थी, जिसमें से विनोद खन्ना का नाम चुना गया है।

अमिताभ व धर्मेन्द्र भी थे रेस में

इन 15 लोगों में बॉलिवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन, धर्मेन्द्र के अलावा दक्षिण भारतीय फिल्म की कुछ जानीमानी हस्तियों के भी नाम शामिल थे। इस अवॉर्ड के लिए जिन 3 नामों पर सबसे अधिक चर्चा थी, उनमें अमिताभ बच्चन, विनोद खन्ना और साउथ के एक फेमस स्टार शामिल थे।

यहां बताना चाहेंगे कि लंबे समय से बीमार चल रहे विनोद खन्ना का पिछले साल 27 अप्रैल को निधन हो गया। वह 70 साल के थे। बॉलिवुड के मशहूर ऐक्टर पृथ्वीराज कपूर को भी मरणोपरांत यह अवॉर्ड दिया गया था।

आजीवन योगदान के लिए दिया जाता है ‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड’

बता दें कि बॉलिवुड के सबसे हैंडसम हीरो में गिने जाने वाले विनोद खन्ना ने ‘मेरे अपने’, ‘इंसाफ’, ‘परवरिश’, ‘मुकद्दर का सिकन्दर’, ‘कुर्बानी’, ‘दयावान’, ‘मेरा गांव मेरा देश’, ‘चांदनी’, ‘द बर्निंग ट्रेन’, ‘अमर अकबर एंथनी’ जैसी फिल्मों में यादगार भूमिका निभाई है।

‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड’ भारत सरकार की ओर से दिया जाने वाला एक ऐसा वार्षिक पुरस्कार है, जो किसी व्यक्ति विशेष को भारतीय सिनेमा में उसके आजीवन योगदान के लिए दिया जाता है।