Home News International आतंकी हाफिज सईद को परेशान न किया जाए: पाकिस्तान हाई कोर्ट

आतंकी हाफिज सईद को परेशान न किया जाए: पाकिस्तान हाई कोर्ट

40
0
SHARE
uknews-hafiz-saeed

लाहौर: संयुक्त राष्ट्र, भारत और अमेरिका भले ही मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को आतंकवादी मानते हों पर पाकिस्तान में उसे ‘समाजसेवी’ माना जाता है। लाहौर हाई कोर्ट के एक आदेश से कुछ ऐसा ही संदेश दुनिया में गया है।

सामाजिक कल्याण से जुड़े कार्यों को’ करने दिया जाए: हाई कोर्ट

दरअसल, हाई कोर्ट ने पाकिस्तान सरकार को आदेश दिया है कि आतंकी हाफिज सईद को परेशान न किया जाए। कोर्ट का कहना है कि हाफिज सईद को उसके ‘सामाजिक कल्याण से जुड़े कार्यों को’ करने दिया जाए।

 

नवंबर में हाफिज सईद को नजरबंदी से आजाद कर दिया था

पाकिस्तान के अखबार एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को लाहौर हाई कोर्ट ने अपने एक ऑर्डर में कहा, ‘अगले आदेश तक किसी तरह से परेशान करनेवाली पॉलिसी न अपनाई जाए।’ आपको बता दें कि इसी कोर्ट ने नवंबर में 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद को नजरबंदी से आजाद कर दिया था।

गौर करनेवाली बात है कि कोर्ट का यह आदेश उसी दिन आया जब अमेरिका ने इस आतंकवादी के राजनीतिक संगठन मिल्ली मुस्लिम लीग को प्रतिबंधित करने का ऐलान किया था। इससे 2 महीने पहले पाकिस्तान ने अमेरिका के दबाव में हाफिज सईद द्वारा संचालित मदरसों और स्वास्थ्य सुविधाओं पर शिकंजा कसना शुरू किया था।

पाकिस्तान को ‘ग्रे लिस्ट’ में रखने का निर्णय

एक महीने पहले भी खबर आई थी कि आतंकियों की फंडिंग पर निगरानी करने वाली संस्था ने पाकिस्तान को ‘ग्रे लिस्ट’ में रखने का निर्णय किया है क्योंकि वह टेरर फंडिंग रोकने के लिए पर्याप्त कदम नहीं उठा रहा है। आपको बता दें कि कोर्ट का यह आदेश सईद के संगठन जमात-उद-दावा (JuD) द्वारा दायर की गई याचिका पर आया है।

भारत और अमेरिका के दबाव में पाकिस्तान

JuD ने कहा था कि सरकार हाफिज सईद के सामाजिक कार्यों में अड़चनें पैदा कर रही है। याचिका में यह भी कहा गया था कि भारत और अमेरिका के दबाव में पाकिस्तान सरकार JuD के जनकल्याण में किए जा रहे कार्यों को रोकने की कोशिश कर रही है। इस याचिका पर कोर्ट ने केंद्र और पाक की पंजाब सरकार से जवाब भी मांगा है।