Home Entertainment अब एनआईए के पास अंतरधार्मिक शादियों की जांच करने का पूरा समय

अब एनआईए के पास अंतरधार्मिक शादियों की जांच करने का पूरा समय

60
0
SHARE
uknews-javed akhtar

गीतकार जावेद अख्तर ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी पर साधा निशाना

नई दिल्ली: मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में सभी आरोपियों के बरी हो जाने के बाद मशहूर फिल्म गीतकार जावेद अख्तर ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) पर निशाना साधा है। जावेद अख्तर ने एनआईए पर तंज कसते हुए कहा है कि अब उसके पास अंतरधार्मिक शादियों की जांच करने का पूरा समय होगा। हालांकि जावेद अख्तर के इस कॉमेंट के बाद बीजेपी ने भी उनपर पलटवार किया है। बीजेपी ने कहा कि काश आपके अंदर कांग्रेस के ‘हिंदू आतंकवाद’ की भी आलोचना करने की ईमानदारी होती।

असीमानंद समेत अन्य आरोपियों को कर दिया बरी

आपको बता दें कि 2007 के मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में एनआईए अदालत ने सबूतों के अभाव में असीमानंद समेत अन्य आरोपियों को बरी कर दिया है। विपक्ष ने एनआईए पर लचर जांच और ठीक से पैरवी नहीं करने का आरोप लगाया है। इसी संदर्भ में जावेद अख्तर की टिप्पणी भी सामने आई है। जावेद अख्तर ने ट्वीट कर कहा है कि, ‘मिशन पूरा हुआ! मक्का मस्जिद केस में भव्य सफलता के लिए एनआईए को मेरी बधाई। अब उनके पास अंतरधार्मिक शादियों की जांच करने का समय होगा।’

बीजेपी जावेद अख्तर पर हो गई हमलावर

दरअसल केरल के चर्चित लव जिहाद मामले की जांच भी एनआईए ही कर रही है। हालांकि इस ट्वीट के सामने आते ही बीजेपी जावेद अख्तर पर हमलावर हो गई है। बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा है कि जावेद अख्तर काश ऐसी ही ईमानदारी कांग्रेस के ‘हिंदू टेरर’ की आलोचना में दिखाते।

जीवीएल ने अपने ट्वीट में तंज कसते हुए लिखा है कि ऐसा लगता है कि फिल्मों में आपने जैसी फिक्शनल स्क्रिप्ट लिखी उसी से राहुल गांधी प्रेरणा ले रहे है। या कथित तौर पर आपके ही आइडिया ‘मौत का सौदागर’ की तरह ही हिंदू टेरर भी आपके ही दिमाग की उपज है।

बीजेपी ने कांग्रेस को ले रखा निशाने पर

आपको बता दें कि मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में सभी आरोपियों के बरी होने के बाद से बीजेपी ने कांग्रेस को निशाने पर ले रखा है। बीजेपी बार-बार ‘हिंदू टेरर’ शब्द के इस्तेमाल के लिए सोनिया और राहुल गांधी से माफी की मांग कर रही है। बीजेपी का कहना है कि उनके नेतृत्व में ही चिदंबरम और सुशील शिंदे ने हिंदू और भगवा टेरर जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था।