Home Uttarakhand Capital Doon पूर्व सीएम हरीश रावत, विधायक मनोज रावत व सांसद प्रदीप टम्टा केदारनाथ...

पूर्व सीएम हरीश रावत, विधायक मनोज रावत व सांसद प्रदीप टम्टा केदारनाथ में फंसे

43
0
SHARE
uknews-former cm harish rawat stuck in kedarnath
केदारनाथ दर्शन करके मंदिर से बाहर निकलते पूर्व सीएम हरीश रावत।

केदारनाथ में हुई भारी बर्फवारी

देहरादून। केदारनाथ में भारी बर्फवारी हुई है। बताया जा रहा है कि केदारनाथ में तीन इंच से अधिक बर्फ गिरी है। बर्फबारी के कारण केदारनाथ गए पूर्व सीएम हरीश रावत भी यहां फंस गए हैं। उनके साथ केदारनाथ विधयाक मनोज रावत और राज्य सभा सांसद प्रदीप टम्टा भी मौजूद हैं।

बदरीनाथ में भी लगातार तीसरे दिन बर्फ गिरी

वहां लगातार बारिश और बर्फबारी के चलते हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं भर पा रहा है। ऐसे में इन नेताओं को वहां मौसम खुलने का इंतजार है। पुलिस की टीमें पांच-पांच का ग्रुप बनाकर कर यात्रियों की मदद कर रही हैं। बदरीनाथ में भी लगातार तीसरे दिन बर्फ गिरी है।

यात्रियों को सोनप्रयाग और गौरीकुंड में रोक दिया

केदारनाथ पैदल मार्ग के पड़ावों पर ही यात्रियों को रोका जा रहा है। प्रशासन ने केदारनाथ जाने वाले यात्रियों को सोनप्रयाग और गौरीकुंड में रोक दिया है। केदारनाथ से 2400 यात्री सकुशल नीचे भेज गए हैं। सुबह से हेली सेवाएं भी बंद हैं। पुलिस अनाउंस कर यात्रियों को मौसम के बारे में अलर्ट कर रही है। श्रद्धालुओं को कमरों से बाहर न आने की सलाह दी जा रही है।
पुलिस ने मंदिर परिसर से यात्रियों को हटाया है। उधर, बदरीनाथ में भी लगातार तीसरे दिन बर्फबारी हुई है। बर्फबारी के चलते कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पुलिस और एसडीआरएफ की टीमें यात्रियों की सहायता में जुटी है। बुजुर्ग और असहाय यात्रियों को सेल्टर एवं धर्मशालाओं में ठहराया जा रहा है।

बर्फबारी के चलते यात्रा की तैयारियों के कार्य ठप पड़े

सुरक्षा कारणों से बदरीनाथ यात्रियों को पांडुकेश्वर, बद्रीनाथ, जोशीमठ में रोका गया। उत्तरकाशी जिले में ओजरी डाबरकोट में यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग बंद हो गया था। इस पर यातायात सुचारू कर दिया गया है। हेमकुंड में भी बर्फबारी के चलते यात्रा की तैयारियों के कार्य ठप पड़े हैं।

देहरादून में कई स्थानों पर उखड़ गए पेड़

आंधी के चलते देहरादून में कई स्थानों पर पेड़ उखड़ गए। मौसम विभाग के स्तर से जारी तूफान और बारिश के अलर्ट का असर चार धाम यात्रा पर भी देखने को मिला है। मंगलवार की सुबह यात्रा पर जाने वाले कई श्रद्धालु मौसम को देखते हुए फिलहाल यही रुक गए हैं। संयुक्त रोटेशन यात्रा व्यवस्था समिति के द्वारा सोमवार की शाम तक विभिन्न धामों के लिए 85 बसों की एडवांस बुकिंग की गई थी। इन सभी बसों को ऋषिकेश से सुबह 8.00 बजे तक रवाना होना था।