Home News National कैराना-नूरपुर के साथ महाराष्ट्र के पालघर से भी कई स्थानों पर EVM...

कैराना-नूरपुर के साथ महाराष्ट्र के पालघर से भी कई स्थानों पर EVM खराब

32
0
SHARE
uknews-Voting for Kairana, Noorpur bypolls begins

शामली: देश के कई हिस्सों में पड़ी रही भीषण गर्मी इंसान ही नहीं EVM का भी दम निकाल रही है! यूपी की कैराना, नूरपुर और महाराष्ट्र की भंडारा-गोंदिया में सोमवार को वोटिंग के दौरान कई EVM खराब होने की शिकायतें मिलीं। चुनाव आयोग ने इसकी एक वजह भीषण गर्मी को भी बताया है।

प्रचंड गर्मी के कारण ईवीएम मशीनों के सेंसर में गड़बड़ी:चुनाव आयोग

चुनाव आयोग ने ईवीएम में तकनीकी खराबी पर कहा कि प्रचंड गर्मी के कारण ईवीएम मशीनों के सेंसर में गड़बड़ी आई है। बता दें कि आज 4 लोकसभा और 10 विधानसभा सीटों पर मतदान चल रहा है।

जमकर आरोप-प्रत्यारोप

कैराना संसदीय क्षेत्र में आने वाले शामली के डीएम इंद्र विक्रम सिंह के मुताबिक तेज गर्मी के कारण वीवीपैट मशीनों के सेंसर में गड़बड़ी आ रही है। टेक्निकल अफसर उसे ठीक कर रहे हैं। सोमवार सुबह ईवीएम में खराबी को लेकर राजनीतिक दलों के बीच जमकर आरोप-प्रत्यारोप लगाए गए। कैराना में आरएलडी ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से भी की।

महाराष्ट्र में भंडारा-गोंदिया और पालघर लोकसभा उपचुनाव के तहत हो रहे मतदान के दौरान कई जगहों से ईवीएम खराब होने की सूचना मिली। भारिप बहुजन महासंघ के नेता एवं पूर्व सांसद प्रकाश आंबेडकर ने कहा कि करीब 450 ईवीएम में खराबी आई। इस संबंध में एक चुनाव अधिकारी ने कहा, ‘भंडारा-गोंदिया और पालघर संसदीय क्षेत्र में कुछ जगहों से तकनीकी खराबी के कारण ईवीएम और वीवीपैट मशीनें खराब होने की सूचना मिली थी। उन्हें बदल दिया गया है।’

चुनाव आयोग से शिकायत दर्ज

बता दें कि ईवीएम में गड़बड़ी को लेकर कैराना लोकसभा सीट से आरएलडी उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने चुनाव आयोग से शिकायत दर्ज कराई है। समाजवादी पार्टी नेता रामगोपाल यादव और आरएलडी चीफ अजित सिंह साढ़े तीन बचे इसको लेकर चुनाव आयोग जाएंगे। यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी ट्वीट कर अपनी नाराजगी जाहिर की।

 

चुनाव आयोग ने कुछ वोटिंग मशीनों के खराब होने की बात स्वीकारी, लेकिन साथ ही भरोसा दिलाया कि सभी वोटर्स को मतदान का मौका मिलेगा। कैराना की सीट राजनीतिक पार्टियों के लिए काफी अहम हैं, क्योंकि यहां बीजेपी के खिलाफ विपक्ष एकजुट है। यह दोनों पक्षों के लिए किसी परीक्षा से कम नहीं है। ऐसे में पार्टियां हर एक पहलू पर बारीकी से नजर रख रही हैं।