Home Sports भारत के लिए निशानेबाजी और रेसलिंग में आए पदक

भारत के लिए निशानेबाजी और रेसलिंग में आए पदक

39
0
SHARE
uknews-cwg 2018 wrestling sushil kumar, rahul aware take india's gold medal

गोल्ड कोस्ट: कॉमनवेल्थ गेम्स के 8वें दिन भारत के लिए निशानेबाजी और रेसलिंग में पदक आए हैं। भारत के पहलवानों ने दो गोल्ड समेत कुल चार मेडल जीते। वहीं निशानेबाजी में तेजस्विनी सावंत ने 50मीटर राइफल प्रोन में सिल्वर मेडल जीता।

पहलवानों ने दो गोल्ड समेत कुल चार मेडल जीते

दो बार के ओलिंपिक पदक विजेता सुशील कुमार ने अपने ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल बरकरार रखा जबकि राहुल अवारे ने कॉमनवेल्थ गेम्स में डेब्यू करते हुए पीला तमगा अपने नाम किया हालांकि गत चैंपियन बबीता फोगाट को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। किरण ने महिलाओं के 76 किलोवर्ग में ब्रॉन्ज मेडल जीता।

भारत की प्रबल पदक उम्मीद माने जा रहे सुशील ने अपेक्षाओं पर खरे उतरते हुए साउथ अफ्रीका के जोहानेस बोथा को सिर्फ 80 सेकंड में 10-0 से हराया। उन्होंने इससे पहले कनाडा के जेवोन बालफोर और पाकिस्तान के मोहम्मद असद बट को तकनीकी श्रेष्ठता के आधार पर हराया। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के कोनोर इवांस को मात दी।

राहुल अवारे ने कनाडा के स्टीवन ताकाहाशी को दी मात

राहुल अवारे (57 किलो) ने कनाडा के स्टीवन ताकाहाशी को 15-7 से मात दी। ग्रोइन की चोट से जूझ रहे अवारे ने हार नहीं मानते हुए जबर्दस्त खेल दिखाया और इन खेलों की कुश्ती स्पर्धा में भारत को पहला गोल्ड मेडल दिलाया। उन्होंने इससे पहले इंग्लैंड के जॉर्ज राम, ऑस्ट्रेलिया के थॉमस सिचिनी और पाकिस्तान के मोहम्मद बिलाल को हराकर फाइनल में जगह बनाई।

जीत के बाद उन्होंने कहा, ‘मैं दस साल से इस पदक का इंतजार कर रहा था। मैं बता नहीं सकता कि कैसा महसूस कर रहा हूं। मैं 2010 में चूक गया और 2014 में टीम ट्रायल के बिना गई। मुझे खुशी है कि आखिरकार मेरा सपना सच हुआ।’

उन्होंने कहा, ‘मैं यह पदक अपने गुरु को समर्पित करता हूं जिनका 2012 में निधन हो गया था।’ वहीं गत चैंपियन बबीता फोगाट को 53 किलो महिला कुश्ती स्पर्धा के खिताबी मुकाबले में कनाडा की डायना वेकर से हारकर सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा।

मेरा आक्रमण आज कमजोर था: बबीता

बबीता ने 2010 दिल्ली खेलों में सिल्वर और ग्लास्गो में 2014 में गोल्ड मेडल जीता था। वह आज 2-5 से हार गईं। बबीता ने फाइनल की राह में नाइजीरिया की सैमुअल बोस, श्री लंका की दीपिका दिलहानी और ऑस्ट्रेलिया की कारिसा हालैंड को हराया।

बबीता ने कहा, ‘मेरा आक्रमण आज कमजोर था। मुझे और आक्रामक होकर खेलना चाहिए था। यह नतीजा वह नहीं है जो मैं चाहती थी। मेरे घुटने में भी चोट थी लेकिन चोट पहलवान के करियर का हिस्सा है।’

भारत के लिए दिन का पहला पदक निशानेबाजी से आया

इससे पहले भारत के लिए दिन का पहला पदक निशानेबाजी से आया। भारत के लिए दिन का पहला पदक तेजस्विनी सावंत ने जीता। तेजस्विनी ने महिलाओं की 50मीटर राइफल प्रोन में सिल्वर मेडल हासिल किया। सावंत ने 618.9 के स्कोर के साथ दूसरा स्थान हासिल करते हुए सिल्वर जीता।

वहीं सिंगापुर की लिंडसे वेलोसो ने 621.0 का स्कोर करते हुए कॉमनवेल्थ खेलों में रेकॉर्ड बनाते हुए गोल्ड मेडल पर कब्जा जमाया। स्कॉटलैंड की सेओनइड मैक्इनटोश ने 618.1 का स्कोर करते हुए कांस्य पदक पर कब्जा जमाया। इसी स्पर्धा में एक और निशानेबाज अंजुम मोदगिल ने निराशाजनक प्रदर्शन किया। वह 602.2 के स्कोर के साथ 16वें स्थान पर रहीं।