Home Breaking माओवादियों के हमले में 9 जवान शहीद

माओवादियों के हमले में 9 जवान शहीद

45
0
SHARE
uknews-jawan killed in naxals attack

6 जवान घायल,कुछ की हालत नाजुक

सुकमा: छत्तीसगढ़ के सुकमा में मंगलवार को सर्च ऑपरेशन में जुटे सीआरपीएफ के जवानों पर घात लगाकर किए गए माओवादियों के हमले में 9 जवान शहीद हो गए। इस घातक हमले में 6 जवान घायल हुए हैं, जिनमें से कुछ की हालत नाजुक बताई जा रही है। जवानों को पहले आईईडी ब्लास्ट से निशाना बनाया गया, फिर फायरिंग की गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक हमले में करीब 100 माओवादी शामिल थे।

हमले के पीछे पीपल्स लिबरेशन ग्रुप का हाथ

नक्सल प्रभावित सुकमा के किस्तराम इलाके में दोपहर साढ़े 12 बजे सीआरपीएफ की 212वीं बटालियन पर यह हमला हुआ। जवान सर्च ऑपरेशन के लिए जा रहे थे, तभी घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने IED ब्लास्ट कर दिया। खबरों के मुताबिक नक्सलियों को जवानों के मूवमेंट की जानकारी हो गई थी और यह पूर्व नियोजित हमला था। सूत्रों के मुताबिक पीपल्स लिबरेशन ग्रुप का इस हमले के पीछे हाथ माना जा रहा है।

गृह मंत्री ने की शहीदों के परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सुकमा नक्सली हमले के शहीदों के परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है। उन्होंने हमले में घायल जवानों के जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। राजनाथ ने कहा, ‘मैंने DG सीआरपीएफ से सुकमा हमले पर बात की है और उन्हें छत्तीसगढ़ जाने को कहा है।’

आईईडी ब्लास्ट से बनाया गया निशाना,फिर की फायरिंग

नक्सल विरोधी अभियान के स्पेशल डीजी डीएम अवस्थी ने बताया, ‘एक पट्रोलिंग पार्टी बख्तरबंद गाड़ी में किस्तराम से पालोदी के लिए जा रही थी। रास्ते में नक्सलियों ने IED से ब्लास्ट कर दिया। अतिरिक्त फोर्स घटनास्थल पर पहुंच गई है। फिलहाल गोलीबारी रुकी हुई है।’

“पट्रोलिंग पार्टी किस्तराम से पालोदी जा रही थी। रास्ते में नक्सलियों ने IED से ब्लास्ट किया। अतिरिक्त फोर्स घटनास्थल पर रवाना”
-डीएम अवस्थी (नक्सल विरोधी अभियान के स्पेशल डीजी )

इससे पहले पिछले साल अप्रैल महीने में सुकमा में नक्सलियों के घात लगाकर किए गए हमले में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए थे। ये सभी जवान सीआरपीएफ की 74वीं बटालियन के थे। जवानों की टीम रोड ओपनिंग के लिए जा रही थी। सीआरपीएफ जवान जब खाना खाने वाले थे, तभी घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर गोलीबारी शुरू कर दी थी।

देश में अब तक हुए बड़े नक्सली हमले

25 मई 2013 : छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में एक हजार से ज्यादा नक्सलियों ने कांग्रेस की परिवर्तन यात्रा पर हमला कर दिया। इस हादसे में कांग्रेस नेता विद्याचरण शुक्ल, महेंद्र कर्मा और नंदकुमार पटेल समेत 25 लोगों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।

 

6 अप्रैल 2010: दंतेवाड़ा जिले के चिंतलनार जंगल में नक्सलियों ने सीआरपीएफ के 75 जवानों सहित 76 लोगों की हत्या कर दी।

4 अप्रैल 2010: ओडिशा के कोरापुट जिले में पुलिस की एक बस पर हमला, विशेष कार्य दल के 10 जवान मरे, 16 घायल।

23 मार्च 2010: बिहार के गया जिले में रेलवे लाइन पर विस्फोट करके भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस को पटरी से उतारा। इसी दिन ओडिशा की रेलवे पटरी पर हमला करके हावड़ा-मुंबई लाइन क्षतिग्रस्त की।

15 फरवरी 2010: पश्चिम बंगाल के सिल्दा में करीब 100 नक्सलियों ने पुलिस कैंप पर हमला करके 24 जवानों की हत्या की, हथियार लूटे।

8 अक्टूबर 2009: महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में लाहिड़ी पुलिस थाने पर हमला करके 17 पुलिसवालों की हत्या की।

LEAVE A REPLY