Home Uttarakhand Kumaun मुख्यमंत्री हो या फिर कोई मंत्री, अधिकारी या शिक्षिका सब मर्यादा में...

मुख्यमंत्री हो या फिर कोई मंत्री, अधिकारी या शिक्षिका सब मर्यादा में रहे

44
0
SHARE
uknews-harak singh rawat

नैनीताल: वन महोत्सव के शुभारंभ कार्यक्रम में नैनीताल पहुंचे कैबिनेट मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने पत्रकार वार्ता में उत्तरा बहुगुणा के मामले को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया। उन्होंने कहा कि चाहे मुख्यमंत्री हो या फिर कोई मंत्री, अधिकारी या शिक्षिका हम सबको अपनी मान मर्यादा में रहकर कार्य करना होगा।

सभी मिलकर राज्य के विकास में करें सहयोग

अगर ऐसा नहीं हुआ तो राज्य के विकास में काफी अड़चनें आएंगी। इसके लिए जरूरी है कि सभी मिलकर राज्य के विकास में सहयोग करें। सभी जिम्मेदार पदों पर बैठे अधिकारी और जनप्रतिनिधि जनता के साथ विनम्र व्यवहार करें। उनकी हर समस्या को समझकर निराकरण करने की कोशिश करें।

हरक ने कहा कि वन पंचायतों को सुदृढ़ किया जाएगा और कैंपा और जायका योजना का संचालन भी वन पंचायतों के माध्यम से किया जाएगा। वन पंचायतों को इसके लिए सीधे रकम जारी की गई है। वन मंत्री ने कहा कि राज्य में बांस बोर्ड की स्थिति अच्छी नहीं है। देश की जैव विविधता में 28 फीसद योगदान उत्तराखंड का है।

यदि उत्तराखंड का पर्यावरण दूषित होगा तो इसका प्रभाव पूरे देश में पड़ेगा, इसलिए उत्तराखंड के कंधे पर देश व दुनियां के पर्यावरण को बचाने की जिम्मेदारी भी है। कंडी मार्ग निर्माण पर प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि सितंबर माह तक सर्वे रिपोर्ट मिल जाएगी। यदि कोई सुप्रीम कोर्ट भी जाएगा तो सरकार वहां भी दमदार तरीके से पक्ष रखेगी और कंडी रोड बनकर रहेगी।