SHARE

हरिद्वार में भाजपा के दो दिग्गज नेताओं के समर्थकों के बीच हुए टकराव के कारण उपजे संकट से निपटने को आखिरकार आलाकमान को सक्रिय होना पड़ा। आलाकमान के निर्देश पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार को इस विषय में पार्टी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट तथा कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज व मदन कौशिक से मंत्रणा की। मुख्यमंत्री के हस्तक्षेप के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज व मेयर हरिद्वार मनोज गर्ग से बातचीत कर मसले के समाधान की पहल की। पार्टी ने अनुशासन समिति को मामले की जांच सौंप दी है।

हरिद्वार में भाजपा के दो दिग्गज नेताओं के समर्थकों के बीच हुए टकराव के कारण उपजे संकट से निपटने को आखिरकार आलाकमान को सक्रिय होना पड़ा। इसकी जांच अनुशासन कमेटी करेगी।

पार्टी उठाएगी सख्त कदम

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के मुताबिक समिति की रिपोर्ट में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ पार्टी सख्त कदम उठाएगी। पिछले दिनों भाजपा के दो दिग्गज कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज और सरकार के प्रवक्ता मदन कौशिक के समर्थक आपस में उलझ गए थे।

दरअसल, हरिद्वार में नगर निगम ने शहर में अतिक्रमण अभियान चलाया और सतपाल महाराज के प्रेमनगर आश्रम की दीवार तोड़ डाली। हरिद्वार के मेयर मनोज गर्ग को कौशिक का नजदीकी माना जाता है।

दो फाड़ नजर आने लगी भाजपा

इस पर महाराज व कौशिक समर्थक आपस में उलझ गए। दोनों ओर से जम कर हाथापाई हुई और कई लोग घायल हो गए। खुद मेयर मनोज गर्ग भी देहरादून के एक निजी अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं। हालांकि, उनके तेवर कम नहीं हुए हैं। इसे महाराज और कौशिक के बीच हुए सीधे टकराव के रूप में देखा गया। स्थिति यह बनी कि हरिद्वार में भाजपा दो फाड़ नजर आने लगी। हरिद्वार के अधिकांश भाजपा विधायक इस मामले में महाराज के साथ खड़े नजर आए।

महाराज ने भी इस मामले में अपनी नाराजगी जताने में कोई कसर नहीं छोड़ी। इस टकराव का असर रविवार को हरिद्वार की जिला कार्य समिति की बैठक में भी नजर आया। सूत्रों के मुताबिक विवाद की जानकारी भाजपा आलाकमान तक पहुंचने और पार्टी की किरकिरी होते देख केंद्रीय नेतृत्व ने तत्काल इस प्रकरण के पटाक्षेप के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने मुख्यमंत्री आवास में कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज व मदन कौशिक के साथ लंबी चर्चा की। प्रदेश महामंत्री संगठन संजय कुमार व महामंत्री नरेश बंसल भी इस दौरान मौजूद रहे। तय यह हुआ कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट इस मामले में संबंधित पक्षों से बात कर पार्टी के लिए परेशानी बन रहे इस प्रकरण को समाप्त कराएंगे।

LEAVE A REPLY