Home News International जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलते नजर आए सिद्धू

जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलते नजर आए सिद्धू

138
0
SHARE
uknews-pak army chief general qamar javed bajwa meets navjot singh sidhu

असहज स्थिति में कांग्रेस

नई दिल्ली/इस्लामाबाद: पूर्व क्रिकेटर और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू शनिवार को इस्लामाबाद में पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए। समारोह के दौरान सिद्धू पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलते नजर आए। सिद्धू संग बाजवा की इस तस्वीर ने कांग्रेस को असहज स्थिति में डाल दिया है।

सिद्धू को पाक अधिकृत कश्मीर के राष्ट्रपति मसूद खान के पास बिठाया गया

यही नहीं, समारोह के दौरान सिद्धू को पाक अधिकृत कश्मीर के राष्ट्रपति मसूद खान के पास भी बिठाया गया था। बता दें कि सिद्धू के पाकिस्तान जाने को लेकर बीजेपी पहले से ही उन पर हमलावर है।

तो मैं उनको पाकिस्तान जाने से रोकता: राशिद अल्वी

कांग्रेस प्रवक्ता राशिद अल्वी ने एक चैनल पर कहा, ‘यदि वह मुझसे सलाह लेते, तो मैं उनको पाकिस्तान जाने से रोकता। वह दोस्ती के नाते गए हैं, लेकिन दोस्ती देश से बड़ी नहीं है। सीमा पर हमारे जवान मारे जा रहे हैं और ऐसे में पाकिस्तान सेना के चीफ को सिद्धू का गले लगाना गलत संदेश देता है। भारत सरकार को उन्हें पाकिस्तान जाने की अनुमति नहीं देनी चाहिए थी। भारत सरकार की सहमति से वह पाकिस्तान गए हैं।’

पीओके के प्रजिडेंट के साथ सिद्धू के बैठने को लेकर पूछे गए सवाल पर जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने कहा, ‘वह जिम्मेदार व्यक्ति और मंत्री हैं। सिर्फ वह ही इसका जवाब दे सकते हैं, लेकिन उन्हें इससे बचना चाहिए था। ‘

सिद्धू बोले, मैं दिल जोड़ने आया हूं

पाकिस्तान दौरे पर सिद्धू ने कहा कि वह दिलों को जोड़ने के लिए आए हैं। लाहौर में सिद्धू ने कहा , ‘मैं अपने मित्र (इमरान) के आमंत्रण पर पाकिस्तान आया हूं। यह बहुत खास क्षण है।’ उन्होंने कहा, ‘खिलाड़ी और कलाकार दूरियां (देशों के बीच) मिटा देते हैं। यहां पाकिस्तानी लोगों के लिए प्यार का संदेश लेकर आया हूं।’ सिद्धू ने ‘हिंदुस्तान जीवे, पाकिस्तान जीवे!’ का नारा लगाया।

 

बता दें कि सिद्धू के साथ ही कपिल देव और सुनील गावसकर को भी शपथ ग्रहण का न्योता मिला था। कपिल निजी कारणों और गावसकर काम की प्रतिबद्धताओं का हवाला देते हुए शपथ ग्रहण में शामिल नहीं हुए थे।