SHARE

धारचूला (पिथौरागढ़) में शासन ने 25 करोड़ रुपये बादल फटने की घटना में तबाह हुए मालपा व मांगती घटियाबगड़ में एक सप्ताह और खोज अभियान के लिए जारी किए है। इसके लिए शासन ने 25 करोड़ रुपये जारी किए हैं। इस आपदा में 30 लोगों के मरने की आशंका जताई जा रही है। अभी तक महज 12 शव ही बरामद हो सके हैं। लापता लोगों में सेना के जेसीओ समेत छह जवान शामिल हैं।

30 से अधिक लोग अब भी लापता

सोमवार तड़के बादल फटने की घटना हुई थी। इसमें मालपा में तीन होटल व चार दुकानें बह गई थीं जबकि घटियाबगड़ में सेना का ट्रांजिट कैंप तबाह हो गया था। इस घटना में 30 से अधिक लोग अब भी लापता हैं। शासन ने अब नदी में खोज कार्य तेज करने के लिए राफ्टर भेजने का भी निर्णय लिया है। एसडीआरएफ की डॉग स्वायड टीम भी खोज अभियान में जुटी है। इधर सेना के जवानों ने लापता अपने जेसीओ व छह जवानों की खोज के लिए काली नदी के किनारे 28 किमी तक खोज अभियान चलाया लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। बुधवार को ढुंगातोली के पास काली नदी में मिले शव की शिनाख्त नेपाली मजदूर के रू प में हुई है।

अभी तक मिले हैं आठ शव

जिलाधिकारी सी रविशंकर का कहना है कि अभी तक आठ शव मिले हैं। जिनकी मौत की पुष्टि हो चुकी है। लापता लोगों की तलाशी का कार्य जारी रहेगा। बरामद चार अन्य शवों के बारे में प्रशासन कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है। समझा जा रहा है कि ये शव नेपाली मजदूरों के हो सकते हैं। अलबत्ता प्रशासन अब स्वीकार कर रहा है कि 12 नेपाली मजदूरों सहित 25 लापता हैं।

शुक्रवार को मौसम साफ रहने से दो हेलीकॉप्टर उच्च हिमालय क्षेत्र के लिए उड़े। हेलीकॉप्टरों से उच्च हिमालय में फंसे प्रभावित क्षेत्र के लोगों को धारचूला लाया जा रहा है। प्रशासन की तरफ से मुख्य विकास अधिकारी आशीष चैहान और एसडीएम आरके पांडेय मालपा पहुंच चुके हैं। अधिकारियों का भी मानना है कि अब शवों के मिलने की संभावना न के बराबर है। मुख्य सचिव ने वीडियो कांफ्रेसिंग से अभी एक सप्ताह और खोज एवं बचाव का कार्य चलाने के निर्देश दिए हैं।

ट्रॉली व फोल्डिंग पुल स्वीकृत

शासन ने आपदा प्रभावित क्षेत्र में आवाजाही सुचारू करने के लिए तात्कालिक व्यवस्था के तहत दो ट्रॉली और दो फोल्डिंग पुल स्वीकृत किए हैं। स्वीकृत दो ट्रॉली पुल निर्माण होने तक एक ट्रॉली नजंग में और एक ट्राली मालपा में लगाई जाएगी। आवागमन हेतु नालों पर फोल्डिंग पुल लगाए जाएंगे।

फिर एयर लिफ्ट कराए गए कैलास यात्री

पिथौरागढ़ रू उच्च हिमालयी क्षेत्र में आपदा से मार्ग बंद होने के बाद भी कैलास मानसरोवर यात्रा जारी रखी गई है। शुक्रवार को मौसम ने दोपहर में कुछ देर के लिए साथ दिया तो कैलास यात्रा से लौटने पर गुंजी में फंसे 13वें दल के 35 कैलास यात्रियों को धारचूला पहुंचाया गया। अभी इस दल के 13 यात्री गुंजी में ही फंसे हैं। इधर यात्रा के लिए धारचूला पहुंचे 16वें दल के 47 यात्रियों को गुंजी व बूंदी में हेलीकॉप्टर से पहुंचाया गया। इसमें मौसम साफ रहने तक 34 यात्री गुंजी पहुंचा दिए गए थे। इसके बाद हेलीकॉप्टर ने 13 यात्रियों को बूंदी के पड़ाव पर उतारा।

LEAVE A REPLY