SHARE

देहरादून। बिहार के पटना शहर में आयोजित कॉमनवेल्थ पार्लियामेंट्री एसोसिएशन इण्डिया रीजन के सम्मेलन से लौटने के बाद विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चन्द अग्रवाल ने विधानसभा में प्रेसवार्ता में कहा कि सम्मेलन में उन्होंने विकास के एजेंडे में संसद की भूमिका विषय पर वक्तव्य दिया। अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने सम्मेलन में कहा गरीबी, बेरोजगारी, खाद्यान्न संकट को दूर करते हुए भारतवर्ष ने विगत 70 वर्षों में विकास की गति को आगे बढ़ाते हुए विकास प्राप्त किया। आज भारत ने सभी क्षेत्रों जैसे औद्योगिक विकास, मानव संसाधन विकास, महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में प्रभावी उन्नति की है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न केवल देश बल्कि विश्व में भारत की साख बढ़ाई है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश की एनुअल ग्रोथ रेट 9.2 प्रतिशत है, जो वर्तमान तक की सबसे अधिक ग्रोथ रेट है। अग्रवाल ने कहा प्रधानमंत्री मोदी ने जीएसटी, विमुद्रीकरण, डिजीटल इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, स्वच्छता अभियान, उज्ज्वल योजना चलाकर देश के विकास को निरंतर गति प्रदान की है।
अग्रवाल ने कहा ‘मैं देवभूमि उत्तराखंड से आता हूं। उन्होंने पर्यावरण संरक्षण में उत्तराखण्ड के महत्वपूर्ण योगदान की बात कही। अध्यक्ष ने बताया कि यहां का 68 से 70 प्रतिशत क्षेत्र वनाच्छादित है। उन्होंने कहा कि हम उस सौभाग्यशाली राज्य उत्तराखंड से हैं, जिसकी शुद्ध हवा से प्रदत्त आक्सीजन भारत के एक बड़े भू-भाग को लाभान्वित करती है। अग्रवाल ने कहा टिहरी बॉंध बनने से स्थानीय निवासियों ने विस्थापन से सम्बन्धित कई समस्याएं झेली हैं। परन्तु टिहरी बॉंध बनने से न केवल उत्तराखण्ड अपितु नई दिल्ली, उत्तर प्रदेश जैसे अन्य कई राज्य भी जल एवं विद्युत का लाभ ले रहे हैं। भाषाओं की बात करते हुए भाषाओं की जननी संस्कृत के प्रचार-प्रसार एवं उत्थान के लिए अग्रवाल द्वारा उत्तराखण्ड विधानसभा में पहली बार संस्कृत उन्नयन समिति का गठन किया गया। उन्होंने बताया सम्मेलन में सम्पूर्ण देश के विभिन्न राज्यों से 24 विधानसभा अध्यक्ष एवं तीन विधान परिषदों के सभापति उपस्थित हुए। सम्मेलन में सीपीए की चेयरमैन एमिला मोन्जोआ लिफाका एवं महासचिव अकबर खान व लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन उपस्थित रहीं।

यूपी विस अध्यक्ष के सुझावों को भराडीसैंण सत्र में रखेंगे

विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने कहा उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित के सुझावों के आधार पर बताया कि ऐसे 17 बिंदु हैं, जिससे हम विकास के पथ पर निरंतर बढ़ सकते हैं। इन 17 बिन्दुओं पर विकास के लिए ‘विकास क्रियान्वयन समिति’ के गठन का प्रस्ताव भराड़ीसैंण (गैरसैंण) में होने वाले आगामी विधानसभा बजट सत्र 20 से 28 मार्च में प्रस्तुत किया जाएगा।

LEAVE A REPLY