Home National Uttarakhand भ्रष्टाचार और नशामुक्त राज्य बनाना प्राथमिकताः सीएम

भ्रष्टाचार और नशामुक्त राज्य बनाना प्राथमिकताः सीएम

106
0
SHARE

पिथौरागढ़। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा प्रदेश में स्वच्छता, हिमालय का संरक्षण एवं सामाजिक समरसता को बढ़ावा दिये जाने के लिए सभी को मिलकर कार्य करना होगा। कहा कि हम सभी को मिलकर प्रदेश से नशा एवं भ्रष्टाचार को खत्म करना होगा। सीएम ने कहा इसके लिए हम सबको जिम्मेदारी के साथ एकजुट होकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्त प्रदेश बनाना सरकार की प्रथम जिम्मेदारी है उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने के लिये युद्वस्तर पर कार्य कर रही हैै। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में बढ़ती नशाखोरी सरकार के लिए भी एक चुनौती है। उन्होंने भ्रष्टाचार एवं नशाखोरी के खिलाफ संकल्पबद्ध होकर कार्य करने की भी बात कही। मुख्यमंत्री सोमवार को पिथौरागढ़ के स्टेडियम में सीमांत सेवा फाउंडेशन द्वारा आयोजित बसन्तोत्सव मेले के शुभारम्भ अवसर पर बोल रहे थे।
मुख्यमंत्री ने वन्देमातरम् कार्यक्रम में भी प्रतिभाग किया। इस कार्यक्रम में 11000 स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा वदे मातरम् का गायन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा हिमालय संरक्षण, स्वच्छता नशामुक्ति एवं पलायन रोकथाम आदि के संबंध में शपथ दिलायी गयी। मुख्यमंत्री ने जनपद में बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं कार्यक्रम के अंतर्गत वर्ष 2017 की उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षा में प्रत्येक विकास खंड की 12वीं कक्षा में सबसे अधिक अंक प्राप्त करने वाली आठ मेधावी बलिाकाओं को एक-एक लैपटॉप वितरित किया।
मुख्यमंत्री ने बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं कार्यक्रम के अंतर्गत जनपद में किये जा रहे विशेष अभियान आदि पर आधारित कॉफी टेबल बुक का भी मुख्यमंत्री द्वारा विमोचन किया गया। मुख्यमंत्री द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अभियान के तहत जनपद में बालिका लिंगानुपात में वृृद्वि होने पर जिला प्रशासन की प्रशंसा करते हुए आम नागरिकों से अपील की कि अभियान को सफल बनाने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि लगभगम एक वर्ष पूर्व जनपद पिथौरागढ़ का 0-06 वर्ष तक की बालिकाओं का लिंगानुपात जो 813 था आज वह बढ़कर 933 प्रति हजार हो गया है। इस अभियान को सफल बनाने में सभी का सहयोग रहा है।
पेयजल एवं आबकारी मंत्री, विधायक पिथौरागढ़ प्रकाश पंत ने कहा कि जनपद पिथौरागढ़ अन्तर्राष्ट्रीय सीमाओं से घिरा हुआ अतिसंवेदनशील जनपद है। सीमाओं की रक्षा हेतु सेना के साथ साथ हम सभी को सीमाओं की रक्षा के लिए सजग प्रहरी की तरह खडे होकर कार्य करने के साथ ही इस जनपद को मिलजुल कर विकास के क्षेत्र में आगे ले जाना होगा।
फाउंडेशन के अध्यक्ष कैलाश थपलियाल ने उत्तराखंड में बढ़ रही पलायन की समस्यां पर विचार रखे। कार्यक्रम में विधायक बिशन सिंह चुफाल, विधायक मीना गंगोला, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट, जिलाधिकारी सी.रविशंकर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय जोशी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY