SHARE

देहरादून। जनपद देहरादून में एक अप्रैल से शादी-ब्याह या किसी भी आयोजन में प्लास्टिक-थर्माकोल के दोने-पत्तलों का उपयोग पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। कोई भी व्यापारी इनकी बिक्री करते पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी, साथ ही दुकान सीज करने की कार्रवाई होगी। पालीथिन बेचने वाले व्यापारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। मंगलवार को नगर निगम सभागार में अपर आयुक्त गढवाल मंडल हरक सिंह रावत ने जनपद के पालीथिन के थोक विक्रेताओं एवं जनपद में संचालित हो रहे वेडिंग प्वाइंट के संचालकों तथा नगर निगम के इंस्पेक्टरों, सुपरवाइजरों के साथ बैठक की। अपर आयुक्त ने 40 माइक्रोन से कम के पालीथिन को पूर्ण रूप से प्रतिबन्धित करने के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों एवं व्यापारियों को दिये। उन्होंने कहा प्लास्टिक और थर्माकोल के दोने, पत्तल पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेंगे।
अपर आयुक्त गढवाल मंडल हरक सिंह रावत ने कहा कि जनपद देहरादून में पालीथिन के कारण जगह-2 कूड़े के ढेर लगे हुए हैं, जिससे की शहर की खूबसूरती के साथ पर्यावरण भी दूषित हो रहा है। इसका दुष्प्रभाव हमारे जीवन पर भी पड़ रहा है। उन्होंने थोक व्यापारियों से कहा वे अपने स्टोर में जो भी पालीथिन एवं डिस्पोजल हैं 31 मार्च तक स्टोर खाली कर लें। उन्होंने कहा एक अपप्रैल से कोई डिस्पोजल तथा पालीथिन से युक्त किसी भी सामग्री का व्यापार नहीं करेगा। उन्होंने कहा एक अपै्रल के बाद कोई व्यापारी पालीथिन बेचते पकड़ा जायेगा तो उसकी दुकान सीज करते हुए कार्यवाही की जायेगी। उन्हांेने जनपद में संचालित हो रहे वेडिंग प्वाइंटों के संचालकों से भी वेडिंग प्वाइंटों में किसी भी प्रकार का पालीथिन का उपयोग नहीं करने को कहा।

शहर में जगह-जगह लगे कूडे के ढेरों पर जताई नाराजगी

अपर आयुक्त ने नगर निगम के इंस्पेक्टरों एवं सुपरवाइजरों को सख्त निर्देश दिये हैं कि शहर में जगह-2 कूड़े के ढेर लगे हुए हैं तथा सफाई की समुचित व्यवस्था नहीं हो रही है। उन्होने नाराजगी जाहिर करते हुए शहर में जिन-2 क्षेत्रों एवं स्थानों पर कूड़े के ढेर लगे हुए हैं उन्हे तत्काल हटाते हुए साफ-सफाई करने के निर्देश दिये। उन्हांेने यूजर चार्ज (सफाई के द्वारा ) माध्यम से प्राप्त हो रही धनराषि के बारे में जानकारी चाही गयी जिस पर इंस्पेक्टरों अवगत कराया गया कि यूजर चार्ज से 15 लाख तक की धनराशि उपलब्ध हो रही है, जिस पर उन्होने अंसतोश जाहिर करते हुए कहा कि यह धनराशि बहुत कम है।

कूडा नहीं देने वालों पर दस गुना पेनाल्टी लगेगी

देहरादून जैसे महानगर में लगभग 50 लाख तक की धनराशि यूजर चार्ज से उपलब्ध होनी चाहिए। इसके लिए उन्होने सभी इंस्पेक्टरों एवं सुपरवाइजरों को निर्देश दिये कि वे अपने-2 क्षेत्रों में सभी घरों की सूची तैयार करें तथा जो कूड़ा नही देता है ऐसे लोगों की सूची तैयार करते हुए उनका तत्काल चालान करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कूडा उठान पर यूजर चार्ज नहीं देते हैं और जो कूडा नहीं देते हैं उनके खिलाफ दस गुना तक पेनाल्टी लगाई जाए।

बैठक में रहे उपस्थित

उप नगर आयुक्त सोनिया पंत, प्रांतीय अध्यक्ष दून उद्योग व्यापार मंडल नरेन्द्र प्रकाश दीवान सहित नगर निगम के इंस्पेक्टर, सुपवाइजर एवं पालीथिन के थोक व्यापारी एवं वेडिंग प्वाइंटों के संचालक।

LEAVE A REPLY