SHARE

क्रांति मिशन डेस्क
देहरादून। उत्तराखंड में बच्चों को उत्तम क्वालिटी और गुणवत्तापरक भोजन देने की तरफ एक और कदम आगे बढाया है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय की मौजूदगी में शुक्रवार को विधानसभा स्थित कार्यालय कक्ष में हंस फाउंडेशन, अक्षय पात्र और सरकार के बीच मिड-डे मील के संबंध में हुए एमओयू साइन हुआ। एमओयू के तहत प्रदेश में 9 सेंट्रलाइज किचन का निर्माण किया जाएगा। अक्षय पात्र योजना के तहत सेंट्रेलाइज किचन बनाई जाएगी। इसका मकसद बच्चों को उत्तम क्वालिटी और गुणवत्तापरक भोजन देना है।
शिक्षा मंत्री ने कहा इस अनुबंध से छात्रों को गुणवत्तायुक्त पौष्टिक भोजन मिलेगा। देहरादून, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल, हरिद्वार ने 9 किचन के लिए लगभग 70 करोड़ रूपये का अंशदान हंस फाउंडेशन करेगा। गढ़वाल के बाद शीघ्र कुमायूॅ में भी दूसरे किचन का शिलान्यास किया जायेगा। योजना से सरकार पर बजट का भार कम होगा। केन्द्र सरकार द्वारा 6 रूपये प्राप्त होने वाले बजट पौष्टिक भोजन देने के लिए अपर्याप्त था। हंस फाउण्डेशन द्वारा 4 रूपये अतिरिक्त अंशदान के बाद कुल 10 रूपये में गुणवत्ता युक्त पौष्टिक भोजन छात्रों को उपलब्ध होगा। मंत्री ने कहा स्कूलों ने गुणवत्तायुक्त शिक्षा पर बल दिया जायेगा। जल्द ही फीस एक्ट लाया जायेगा। अभी तक एनसीआरटी पाठ्य-पुस्तक के रूप में मुद्रित की जा चुकी है। 60 प्रतिशत तक पुस्तकें बाजार में सप्लाई हो चुकी है। इस अवसर पर सचिव भूपेन्द्र कौर औलख, महानिदेशक शिक्षा कैप्टन आलोक शेखर तिवारी आदि थे।

LEAVE A REPLY